Valmiki Caste – वाल्मीकि समाज की जनसंख्या और इतिहास

Valmiki Caste क्या है, यहाँ आप वाल्मीकि जाति के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे। इस लेख में आपको Valmiki Caste के बारे में हिंदी में जानकारी मिलेंगी।

Valmiki Caste

Valmiki क्या है? इसकी कैटेगरी, धर्म, जनजाति की जनसँख्या और रोचक इतिहास के बारे में जानकारी पढ़ने को मिलेगी आपको इस लेख में।

जाति का नामवाल्मीकि जाति
Valmiki की कैटेगरीदलित (द्रविड़) समुदाय
Valmiki का धर्महिंदू धर्म, सिख धर्म

अगर बात करें वाल्मीकि जाति की तो Valmiki Caste कौनसी कैटेगरी में आती है? Valmiki Caste के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए पोस्ट को पूरा पढ़ें। तो आओ शुरू करतें है Valmiki Caste के बारे में :-

What is Valmiki Caste

Valmiki Caste– वाल्मीकि मूल रूप से एक दलित (द्रविड़) समुदाय है। आदि धर्म (वाल्मीकि धर्म) का पालन करने वाली एक जाति और समुदाय है। उनका पारंपरिक कार्य शिक्षित करना, खोज करना, युद्ध कार्य करना रहा है। वाल्मीकि समाज के अन्य नाम हेला, डोम, हलालखोर, लालबेग, भंगी, चूहरा, बांसफोड़, मुसहर, नमोशूद्र, मतंग, मेहतर, महार, सुपच, सुदर्शन, मझबी, गंगापुत्र, नायक, बेड़ा, बोया, हंटर, कोली आदि हैं। विभिन्न राज्यों में इन नामों से भी जाना जाता है।

पंजाब में बसे धर्मों को भी उनका हिस्सा माना जाता है, जो सिख धर्म के अनुयायी हैं। वाल्मीकि नाम वाल्मीकि से लिया गया है जिन्हें यह समुदाय अपना गुरु मानता है। वाल्मीकि समुदाय के लोग भगवान वाल्मीकि को भगवान का अवतार मानते हैं और उनके द्वारा रचित श्रीमद् रामायण और योगवशिष्ठ को पवित्र ग्रंथ मानते हैं।

वाल्मीकि समाज की उत्पति – Valmiki Caste

इस समुदाय या संप्रदाय का नाम महर्षि वाल्मीकि के नाम पर रखा गया है। इस समुदाय या संप्रदाय के सदस्य संस्कृत रामायण और योग वशिष्ठ जैसे ग्रंथों के लेखक कवि महर्षि वाल्मीकि के वंशज होने का दावा करते हैं। यह महर्षि वाल्मीकि को अपना गुरु और भगवान का अवतार मानते हैं।

वाल्मीकि जाति की कैटेगरी

वाल्मीकि मूल रूप से एक दलित (द्रविड़) समुदाय है, एक जाति और समुदाय है जो आदि धर्म (वाल्मीकि धर्म) का पालन करता है। उनका पारंपरिक कार्य शिक्षित करना, खोज करना, युद्ध कार्य करना रहा है।

वाल्मीकि जाति का इतिहास

उत्तर भारत में पाए जाने वाले इस समुदाय के लोगों ने पारंपरिक रूप से सीवेज क्लीनर और सफाई कर्मचारी के रूप में काम किया है। ऐतिहासिक रूप से, उन्होंने जातिगत भेदभाव, सामाजिक बहिष्कार और उत्पीड़न का सामना किया है। हालांकि, शिक्षा और रोजगार के आधुनिक अवसरों का लाभ उठाकर अब उन्होंने अपने पारंपरिक काम को छोड़कर अन्य पेशों को अपनाना शुरू कर दिया है। इससे उनकी सामाजिक स्थिति में सुधार हुआ है।

वाल्मीकि जाति के बारे में जानिए

Valmiki Caste– वाल्मीकि को एक जाति या संप्रदाय (परंपरा / संप्रदाय) के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है। वाल्मीकि जाति। धर्म- हिंदू धर्म, सिख धर्म

वाल्मीकि समाज के गोत्र – Valmiki Caste

गोत्र परंपरा एक ऋषि के पुत्र या शिष्य द्वारा फैलाई जाती है, ऋषि वाल्मीकि की कोई पुत्र या शिष्य परंपरा प्रचलित नहीं है। प्राचीन काल में भी इसका कोई प्रमाण नहीं मिलता। तो हम कहां जाएं, कि वाल्मीकि कोई गोत्र या उपाधि या नाम नहीं है। इसे गोत्र नहीं कहा जा सकता।

वाल्मीकि समाज की जनसंख्या – Valmiki Caste

2001 की भारत की जनगणना के अनुसार, यह पंजाब में अनुसूचित जाति की आबादी का 11.2% था और दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में दूसरी सबसे अधिक आबादी वाली अनुसूचित जाति थी। 2011 की जनगणना के अनुसार, उत्तर प्रदेश में कुल अनुसूचित जाति की आबादी 13,19,241 दर्ज की गई थी।

दक्षिण भारत के वाल्मीकि समाज – Valmiki Caste

  • दक्षिण भारत में बोया या बेदार नायक समाज के लोग अपनी पहचान बताने के लिए वाल्मीकि शब्द का प्रयोग करते हैं।
  • आंध्र प्रदेश में उन्हें बोया वाल्मीकि या वाल्मीकि के नाम से जाना जाता है।
  • बोया या बेदार नायक पारंपरिक रूप से एक शिकारी और मार्शल जाति हैं।
  • आंध्र प्रदेश में यह मुख्य रूप से अनंतपुर, कुरनूल और कडप्पा जिलों में केंद्रित है।
  • कर्नाटक में यह मुख्य रूप से बेल्लारी, रायचूर और चित्रदुर्ग जिलों में पाया जाता है।
  • वे पहले आंध्र प्रदेश में पिछड़ी जातियों में शामिल थे, लेकिन अब उन्हें अनुसूचित जनजाति के रूप में सूचीबद्ध किया गया है।
  • तमिलनाडु में उन्हें सबसे पिछड़ी जाति, एमबीसी के रूप में वर्गीकृत किया गया है, जबकि कर्नाटक में उन्हें अनुसूचित जनजाति के रूप में वर्गीकृत किया गया है।

अन्य जातियों के बारे में जानकारी

Nadar Caste – नादर जातिGowda Caste – गौड़ा जाति
Goswami Caste – गोस्वामी जातिThakur Caste – ठाकुर जाति
Bhumihar Caste – भूमिहार जातिPatel Caste – पटेल जाति
Srivastava Caste – श्रीवास्तव जातिParmar Caste – परमार जाति
Bisht Caste – बिष्ट जातिLingayat Caste – लिंगायत जाति

हम उम्मीद करते है की आपको Valmiki Caste के बारे में सारी जानकारी हिंदी में मिल गयी होगी, हमने Valmiki Caste के बारे में पूरी जानकारी दी है और वाल्मीकि जाति का इतिहास और वाल्मीकि जाति की जनसँख्या के बारे में भी आपको जानकारी दी है।

Valmiki Caste की जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी, अगर आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो हमे कमेंट में बता सकते है। धन्यवाद – आपका दिन शुभ हो।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.