Potalia Samaj का इतिहास , कौनसी जाति है?

Potalia Samaj :-कुछ गोत्रों का प्रचलन पशु, पक्षियों के नाम पर हुआ है. सांप से पोटलिया जाट गोत्र प्रचलित होना माना जाता है.

Potalia Samaj
                                                                           Potalia Samaj

पोटलिया समाज का इतिहास

जिला चूरू के वीर बिग्गामल जी डूडी ने गायों की रक्षा के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिए । पोटी गाँव के Potalia Samaj के जाटों की लड़की अपने घर चरखा कात रही थी । बिग्गामल जी घोड़ी पर सवार थे और रास्ते में इस लड़की से पानी माँगा | वह लड़की उन पर कुंवारी सती हो गयी ।लड़की ने जवाब दिया तुम क्या मेरी खेदियोड़ी मोड़ दोगे अर्थात मेरी गायें राठ ले गए हैं उनको वापस ला दोगे घ् बिग्गाजी ने कहा कि गायें लाने में मर गया तो क्या सती हो जावोगी । लड़की ने जवाब दिया यह तो वक्त ही बताएगा । बिग्गामल जी बिना पानी पिए ही राठों के पीछे हो लिए । वहां पर भिडंत हुई । गाये तो छुड़ाली लेकिन बिग्गामल जी शहीद हो गए । काफी देर इंतजार के बाद वह लड़की पानी का गुणिया भरकर साथ में कुत्ता लेकर गयी । आगे जाकर देखा तो बिग्गाजी मृत मिले । वह लड़की उन पर कुंवारी सती हो गयी । यह स्थान पोटी से उत्तर.पूर्वी कोने पर स्थित है जहाँ मंदिर बना है । यहाँ लोग दाद के इलाज की मन्नत मांगने जाते हैं। विश्वास है कि यहाँ पूजा करने से दाद अच्छे हो जाते हैं।

Poonia Caste पूनिया जाति का इतिहास

राजस्थान में कहा रहते है

  • हनुमानगढ़ जिले के गांव
    3 RWD , Bharwana , Dingarh , पक्की Dabli , रामपुरा URF Ramsara , Ratanpura , Sangaria , Surnana ,
  • बाड़मेर जिले के गांव
    Aadel , बनिया सांडा धोरा , बाड़मेर , Bhachbhar , Chawa , Garal , खारा Rathoran , Netrad , Potliyon की धानी , Rawatsar , Sarnu , Sherani Potaliyo की धानी ( Bhachbhar ),
  • जोधपुर जिले के गांव
    जाति भांडू (जाटी भांडू), जोधपुर , खबनिया , रायकोरिया ,
  • चुरू जिले के गांव
    लालगढ़ , मुंद्रा (40), पोटी चुरू , रणसीसर चुरू (3), सरदारशहर ,
  • नागौर जिले के गांव
    अकोरा , झरेली , कात्यासानी , मंडेली , पोटलिया मांजरा (100), रैधनु , सोनेली (7),
  • बीकानेर जिले के गांव
    बीकानेर ,

Potalia Samaj के प्रसिद्ध व्यक्ति ?

  • पीरू राम पोटालिया (जन्म: 1905) (चौधरी पीरुराम पोटलिया), जोधपुर से , जोधपुर , राजस्थान में एक सामाजिक कार्यकर्ता थे ।
  • नागौर के रैधनु गाँव के स्वर्गीय श्री माला राम पोतालिया (सूबेदारजी) – पास के क्षेत्र में सशस्त्र बलों में शामिल होने में अग्रणी स्थानीय पहलवान, पाकिस्तान के साथ प्रारंभिक लड़ाई में मातृभूमि की सेवा की |
  • एचआर पोटालिया – नागौर के रैधानु गांव के मरीन इंजीनियर जोधपुर में बसे |
  • पुष्पा पोटालिया – एनाटॉमी में पीएचडी, प्रो. राजकीय मेडिकल कॉलेज जोधपुर में, नागौर के रायधनु गांव से जोधपुर में बसे |
  • माला राम पोटालिया – 1965 के भारत-पाक युद्ध के शहीद। से Bayatu Chimanji में गांव Baytu तहसील, बाड़मेर , राजस्थान।
  • जेहा राम पोटालिया – 1965 के भारत-पाक युद्ध के शहीद। ग्राम : बयातू भीमजी (बाड़मेर) |
  • भेरा राम पोटलिया – आईआरएस 2009 बैच, उप निदेशक आयकर (जांच), उदयपुर में , पूर्व 2006 बैच आरएएस , एम: +9195 30 400175.|
  • बलवंत सिंह पोटालिया – सिडनी विश्वविद्यालय, ऑस्ट्रेलिया में प्रोफेसर|
  • परमवीर सिंह पोटालिया – पंजाब के केंद्रीय विश्वविद्यालय, बठिंडा में सहायक प्रोफेसर, गांव ओढानी से|
  • धर्मवीर सिंह पोटालिया – पशु चिकित्सा सर्जन, सरकार। हरियाणा के ग्राम ओधानी से|
  • भरत सिंह पोटालिया – पूर्व निदेशक, हरियाणा कृषि और विपणन बोर्ड, सरकार। हरियाणा के ग्राम ओधानी से |
  • बडे भाई और बॉस, आधुनिक जाट महासभा के वरिष्ठ वायुमण्डलीय भामाशाह श्री मूलराम जी पोतेलिया साहब ने 2 करोड़ 25 लाख का दिवस समाज में एक वायुमंडलीय महासभा परिवार को महासभा परिवार को गौरव दिया।

पोटालिया कबीले द्वारा स्थापित गांव कौनसे है ?

  • पोटलिया मांजरा (पोतलिया मांजरा) – राजस्थान के नागौर तहसील और जिले का गाँव ।
  • पोटी चुरू (पोती) – राजस्थान के चुरू तहसील और जिले का गाँव ।
  • पोतालिया पाली (पेटलिया) – राजस्थान में पाली जिले की सोजत तहसील का गाँव ।
  • पोट्लियों की ढाणी ( पोटलियों की ढाणी ) – राजस्थान में बाड़मेर जिले की गुढ़ा मलानी तहसील का गाँव ।

इस पोस्ट में आपको Potalia Samaj के बारे में बताया गया है और जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक को क्लिक करे |

पोटलिया समाज

Chhimpa Caste कोनसी है इतिहास क्या है ?

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.