Pet dard ki tablet – पेट दर्द की अंग्रेजी दवा का नाम

Pet dard ki tablet :- नमस्कार दोस्तों, अगर बात पेट दर्द की करें तो आपको बता दे की मनुष्य के शरीर में पेट ही एक ऐसा हिंसा है जिसमे 70% बीमारिया होती है। तो आओ बात करें पेट दर्द की दवा और घरेलू उपचार(Pet dard ki tablet in hindi) के बारे में :-

Pet dard ki tablet
Pet dard ki tablet

Pet dard ki tablet in hindi

Pet dard ki tablet– हर कोई समय-समय पर खाने या पीने के बाद पेट में गड़बड़ी, अपच, दर्द या ऐंठन का अनुभव करता है। आमतौर पर पेट दर्द की शिकायत कुछ समय के लिए या लंबे समय तक हो सकती है। यह दर्द हल्का या गंभीर हो सकता है।

इसका स्थान पेट के दाएं या बाएं तरफ भी हो सकता है। पेट दर्द सामान्य से लेकर गंभीर तक हो सकता है। यह दर्द बिना इलाज के भी ठीक हो जाता है। इस दर्द का कारण अपच या पेट की समस्या हो सकती है।

घरेलू नुस्खों की मदद से व्यक्ति को आसानी से राहत मिल जाती है। स्थानीय दर्द की बात करें तो यह एक हिस्से में ही होता है। अपेंडिसाइटिस का दर्द एक सामान्य दर्द के रूप में शुरू होता है और फिर अक्सर पेट के एक हिस्से में शुरू होता है।

सर दर्द के घरेलू इलाज

Pet dard ki tablet name

Pet dard ki tablet in hindi :- पेट दर्द कैप्सूल ट्रामाडोल(Tramadol capsule) अगर आपको पेट में तेज दर्द है तो आप इस कैप्सूल का इस्तेमाल कर सकते हैं, यह कैप्सूल आपके पेट में भी तेज दर्द पैदा कर रहा है, तब भी यह दवा आपके दर्द को ठीक कर देगी।

तुलसी बीज के फायदे हिंदी में

पेट दर्द की अंग्रेजी दवा का नाम

पेट दर्द की अंग्रेजी दवा का नाम– दर्द और सूजन के लिए एसिक्लोफेनाक – Aceclofenac प्रेसेर्वेस – Preservex. एसिक्लोफेनाक एक दवा है जिसे गैर-स्टेरायडल एंटी-इन्फ्लैमटोरी दवा कहा जाता है। इसे ‘एनएसएडी’ के रूप में भी जाना जाता है। सुबह और शाम को एक-एक टैबलेट लें।

सिर दर्द का पक्का इलाज

पेट दर्द की आयुर्वेदिक दवा

  1. तुलसी, सौंफ और लौंग- तुलसी, सौंफ, लौंग एक साथ एसिड रिफ्लेक्स को कम करते हैं।
  2. छाछ- नमकीन छाछ पाचनतंत्र के लिए बेहद लाभकारी होती है।
  3. अदरक और नींबू का रस- अदरक के रस को निकालकर नींबू के रस में मिला लें और इसका सेवन करने से पेट का दर्द तेजी से दूर होता है।

शराब छुड़ाने की दवा और घरेलू उपाय

पेट दर्द और उल्टी की दवा बताएं

कैमोमाइल – कैमोमाइल का इस्तेमाल पेट दर्द सहित कई बीमारियों के उपचार के लिए किया जाता है. इस हर्बल पौधे का इस्तेमाल गैस, अपच, दस्त, मतली और उल्टी जैसी कई आंतों की समस्याओं के लिए किया जाता है. कैमोमाइल का इस्तेमाल हर्बल सप्लीमेंट्स में भी किया जाता है.

बीयर से पथरी का इलाज कैसे करें?

बच्चों के पेट दर्द की दवा का नाम

बच्चों के पेट दर्द की दवा का नाम– जीरे के अलावा हींग और अदरक का काढ़ा भी बच्‍चों में पेट दर्द की समस्‍या को दूर कर सकता है। एक ताजी अदरक, थोड़ी-सी हींग और दो चुटकी सेंधा नमक लें। इसे एक गिलास पानी में उबालकर ठंडा होने पर बोतल में भर लें। इसके बाद थोड़ी-थोड़ी देर में बच्‍चे को यह काढ़ा पिलाते रहें।

अंडे खाने के फायदे

पेट दर्द और गैस की दवा

नींबू का रस व अदरक एक – एक चम्मच लें, फिर उसमें थोड़ा सा काला नमक मिलाएं और इसे खाने के बाद खाएं, इससे पाचन शक्ति अच्छी होती है और गैस की समस्या भी दूर होती है। अजवायन के चूर्ण को गर्म पानी के साथ खाएं, इससे गैस, बदहजमी से आराम मिलता है। रोज़ 2 – 3 छोटी हरड़ मुंह में डालकर चूसते रहें, फायदा होगा।

बीयर से पथरी का इलाज कैसे करें

पेट गैस की टेबलेट

पेट गैस की टेबलेट– प्रोडक्ट विवरण Gastrina गैस की समस्याओं का आयुर्वेदिक समाधान है. इसका नियमित उपयोग पेट की गैस, पेट की असुविधा, बेल्चिंग, पूर्णता और पेट दर्द की भावना सहित पेट के मुद्दों की एक भीड़ से राहत देने में मदद करता है।

पैर की नसों में खिंचाव का इलाज

पेट दर्द के लिए एंटीबायोटिक tablet

ड्रोमेफ 80 एमजी/250 एमजी टैबलेट एक कॉम्बिनेशन दवा है जिसका इस्तेमाल पेट में दर्द के इलाज के लिए किया जाता है. यह पेट और गट की मांसपेशियों को आराम देकर पेट में दर्द, ब्लोटिंग, असुविधा और ऐंठन को कम करने के लिए असरदार ढंग से काम करता है।

कमर दर्द का इलाज

ट्रामाडोल कैप्सूल के नुकसान

इसमें ट्रामाडोल(Tramadol capsule) की मात्रा अधिक होने के कारण इसका इस्तेमाल करने के बाद आपको नींद आ सकती है इसलिए आपसे निवेदन है कि इस कैप्सूल को इस्तेमाल करने के बाद गाड़ी न चलाएं।

अगर आप लंबे समय तक ट्रामाडोल कैप्सूल(Tramadol capsule) का इस्तेमाल करते हैं तो आपको इसकी लत लग सकती है।

हो सकता है कि कुछ लोग इस दवा का गलत तरीके से इस्तेमाल करते हों, जो कि गलत है, उन्हें इसकी आदत हो गई है, इसलिए वे इसका इस्तेमाल करते हैं, जो उनके लिए घातक साबित हो सकता है।

पेट दर्द की Best दवाएं

पेट दर्द के घरेलू उपचार

Pet dard ki tablet :- निचे दिए गए आर्टिकल में आपको पेट दर्द के लिए घरेलू उपचार और पेट दर्द की दवा(Pet dard ki tablet) के बारे में जानकारी दी है तो पोस्ट को पूरा पढ़ें :-

(1). अदरक सेवन से पेट दर्द से राहत

अदरक में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो पाचन क्रिया को नियमित करने का काम करते हैं और पेट में मौजूद एसिड को भी कम रखते हैं। इसके लिए सबसे पहले अदरक को बारीक काट लें, फिर इसे पानी में डालकर 3-4 मिनट तक उबालें और छान लें।

फिर इसमें थोड़ा सा शहद मिलाएं और इसे दिन में कम से कम 2-3 बार थोड़ा-थोड़ा करके पिएं। यह पेट दर्द में राहत देने के साथ-साथ पाचन क्रिया को भी दुरुस्त करता है।

(2). सौंफ का सेवन

सौंफ में पोषण और दर्द निवारक गुण होते हैं। सौंफ के बीज अपच के कारण होने वाले दर्द से राहत दिलाने में मददगार होते हैं। इसके अलावा यह गैस और सूजन जैसी समस्याओं में भी राहत देता है।

इसके लिए एक कप पानी में एक चम्मच पिसी हुई सौंफ डालकर 10 मिनट तक उबालें। फिर इसे ठंडा होने के लिए रख दें।

जब मिश्रण ठंडा हो जाए तो इसे छान लें और इसमें शहद मिलाकर पीएं। पेट दर्द को कम करने के लिए इस मिश्रण को दिन में कम से कम 2-3 बार पियें।

(3). पेट दर्द में हींग देता है आराम

हींग के सेवन से पेट दर्द, अपच या गैस की समस्या से राहत मिलती है। इसके लिए एक गिलास गुनगुने पानी में एक चुटकी हींग डालकर अच्छी तरह मिला लें।

फिर उस मिश्रण को दिन में 2-3 बार पिएं। आप चाहें तो इस मिश्रण में स्वादानुसार सेंधा नमक भी मिला सकते हैं। पेट दर्द और गैस की समस्या के लिए यह उपाय बहुत फायदेमंद है।

(4). पेट दर्द को कम करता है पुदीना

पुदीना पेट दर्द और गैस को कम करने का काम करता है। इसके अलावा, यह पाचन में भी सुधार करता है।

इसके लिए सूखे पुदीने को एक कप पानी में डालकर 10 मिनट तक उबालें और फिर उस मिश्रण को छान लें और उसमें थोड़ा सा शहद मिलाएं। अब इस मिश्रण को चाय की तरह दिन में 2-3 बार पिएं।

सर दर्द के घरेलू इलाज

अंतिम शब्द :- दोस्तों, आपको इस पोस्ट में हमने पेट दर्द की दवा और घरेलू उपचार(Pet dard ki tablet) के बारे में जानकारी दी है। अगर पोस्ट अच्छी लगी तो कमेंट करें और पोस्ट को शेयर करें ताकि आपके दोस्तों को भी(Pet dard ki tablet) पता चले।

धन्यवाद, आपका दिन शुभ हो।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *