Peshab se bawaseer ka ilaj – साइडइफेक्ट या सुरक्षित इलाज

नमस्कार दोस्तों, आज आपको इस पोस्ट में हम पेशाब से बवासीर का इलाज कैसे करें? इसके बारे में आपको पूरी जानकारी देंगे। तो आओ शुरू करते है पेशाब से बवासीर के इलाज (Peshab se bawaseer ka ilaj) के बारे में :-

Peshab se bawaseer ka ilaj
Peshab se bawaseer ka ilaj

बवासीर की बीमारी का कारण

पेशाब से बवासीर का इलाज– बवासीर होने का प्रमुख कारण है लंबे समय तक कठोर कब्ज बना रहना। सुबह-शाम शौच नहीं जाने या शौच जाने पर ठीक से पेट साफ नहीं होने और काफी देर तक शौचालय में बैठने के बाद मल निकलने या जोर लगाने पर मल निकलने या जुलाब लेने पर मल की स्थिति को कब्ज होना कहते हैं।

आजकल खराब खानपान और कई बार आनुवंशिक तौर पर लोग बवासीर जैसी खतरनाक बीमारी की चपेट में आ रहे हैं। हम आपको एक सरल उपाय बता रहे हैं जिनके जरिए आप बवासीर की समस्या को जड़ से समाप्त कर सकते हैं।

आवश्यक सामग्री
  • गाय का दूध 
  • एक नारियल 
बनाने का तरीका
  • सबसे पहले नारियल की जटा को लेकर इसे अच्छी तरह से जला लें।
  • इस जले हुए भाग की भस्म बनाकर इसे एक साफ बोटल में भर लें।
ऐसे करें इस्तेमाल
  • सुबह टॉयलेट जाने के बाद इस नुस्खे का इस्तेमाल करें।
  • सबसे पहले एक कटोरी में थोड़ी दही लेकर उसमें उसमें 5 से 6 ग्राम नारियल डालें।
  • इसे अच्छी तरह मिक्स कर लें और इसका सेवन कर लें।
  • ध्यान रहे इसके बाद पूरे दिन आपको कुछ और नहीं खाना है।
  • इस प्रयोग को आपको सुबह, दोपहर और रात को सोने से पहले करना होगा।
  • इसके अलावा आपको जब भी भूख लगे तब आप सिर्फ दही का सेवन करें। 

इस बात का रखें ध्यान– अगर आप बवासीर या कब्ज से पीड़ित हैं और राहत पाने के लिए इस नुस्खे को आजमाने की कोशिश कर रहे हैं, एक बार अपने डॉक्टर से सलाह ले लें। हालांकि यह एक नैचुरल उपाय है जिसका कोई गंभीर साइड इफेक्ट नहीं है लेकिन आराम नहीं मिलने पर अपनी दवाएं जारी रखें।

Peshab se bawaseer ka ilaj

  • इंसान के पेशाब में 95% पानी होता है।
  • शेष 5 प्रतिशत में यूरिया, यूरिक एसिड, पोटेशियम, फॉस्फेट और अन्य तत्व मौजूद होते हैं।
  • आपने डॉक्टर को यह कहते सुना होगा कि ढेर सारा पानी पीने से बवासीर ठीक हो जाता है।
  • क्या आपने सुना है कि पेशाब में 95% पानी होता है, तो यह बवासीर को ठीक कर सकता है?
  • मानव मूत्र बवासीर का इलाज नहीं कर सकता।
  • यदि मानव मूत्र को बवासीर वाली जगह पर लगाया जाए तो इसके कई दुष्प्रभाव हो सकते हैं।
  • पानी के साथ पेशाब में यूरिया और शरीर की अशुद्धियां भी होती हैं।
  • अगर पीना ही है तो साफ और साफ पानी पिएं।
  • ग्लोबल वार्मिंग बढ़ रही है लेकिन पानी की इतनी कमी नहीं है कि आपको पेशाब पीना पड़े।
  • खासकर जब आप बवासीर से जूझ रहे हों।

गौमूत्र से बवासीर का इलाज

Peshab se bawaseer ka ilaj– गोमूत्र बवासीर का इलाज कैसे करता है, इसके दावों पर विचार करें:

  • गोमूत्र पीने से बवासीर के घाव सूखने लगते हैं।
  • इसे बवासीर पर लगाने से मस्से सूख जाते हैं।
  • हरड़ को गोमूत्र में भिगोकर खाने से बवासीर रोग ठीक हो जाता है।

इन दावों में कोई सच्चाई नहीं है। गोमूत्र बवासीर को ठीक करने में सक्षम नहीं है। आपको यह समझना होगा कि पेशाब में शरीर की गंदगी होती है। इसे पीने या इसे मस्सों पर लगाने से समस्या कम नहीं होगी।

नोट : इस पर कई शोध हो चुके हैं और वैज्ञानिक प्रमाण बताते हैं कि बवासीर का इलाज मूत्र या गोमूत्र से नहीं किया जा सकता है।

पेशाब के साथ बवासीर के इलाज के दुष्परिणाम

Peshab se bawaseer ka ilaj– बवासीर के बवासीर पर पेशाब लगाने या उसका सेवन करने से निम्न नुकसान हो सकते हैं:

  • संक्रमण- अगर आपको बवासीर है तो आपके गुदा में पहले से ही संक्रमण है। पेशाब पीने या ऊपर से इसका इस्तेमाल करने से संक्रमण और भी बदतर हो सकता है।
  • किडनी खराब होना- किडनी शरीर के लिए फिल्टर का काम करती है। यह भोजन या पानी में मौजूद अपशिष्ट और विषाक्त पदार्थों को अलग करके स्वस्थ और लाभकारी पोषक तत्वों को रक्तप्रवाह में पहुंचाता है। यूरिन में मौजूद टॉक्सिक से किडनी फेल हो सकती है।
  • पाचन समस्याएं- मूत्र या गोमूत्र में मौजूद जहरीले पदार्थ पेट दर्द, अपच का कारण बन सकते हैं।
बवासीर का सफल और सुरक्षित इलाज
  • पीने या पेशाब करने का शौक छोड़ दें।
  • अगर आप बवासीर का सफल इलाज चाहते हैं तो डॉक्टर के पास जाएं और जरूरी दवाएं लें।
  • ग्रेड तीन या चार बवासीर को ठीक करने का सबसे अच्छा तरीका सर्जरी है।
  • डॉक्टर की सलाह से बवासीर को घर पर ही जड़ से खत्म किया जा सकता है।

पेशाब से बवासीर का इलाज करने के दावे

लोगों का मानना है कि बवासीर का इलाज(Peshab se bawaseer ka ilaj) के लिए गोमूत्र को उपयोग करने की दो विधियाँ हैं:

  1. गोमूत्र को गुदा क्षेत्र में लेप की तरह लगाना
  2. रोज सुबह गाय का ताजा-ताजा पेशाब पीना

यदि उपरोक्त दावे को विज्ञान की कसौटी में कसा जाए तो इनसे कोई फायदा नहीं होता है। बहुत सी रिसर्च ने गाय के पेशाब को पीना या उसे त्वचा पर लगाने को तर्कहीन बताया है।

जैसा कि बहुत से लोग न सिर्फ गोमूत्रबल्कि खुद के मूत्र को पीना और उसे गुदा क्षेत्र में बतौर इलाज उपयोग करना चाहते हैं। यह और भी हानिकारक हो सकता है। एक बार गोमूत्रमें हानिकारक तत्वों की मात्रा कम हो सकती है, लेकिन मानव शरीर से निकला हुआ वेस्ट पदार्थ कई हानिकारक तत्वों से भरा होता है। 

उत्तर स्पस्ट है गोमूत्र एवं मनुष्य मूत्र दोनों में से कोई भी बवासीर का इलाज नहीं कर सकते हैं, बल्कि स्वास्थ्य संबंधी समयाओं की जड़ जरूर बन सकते हैं।

हो सकती हैं ये समस्याएं

  • इन्फेक्शन – बवासीर के कारण गुदा क्षेत्र में पहले से ही जख्म उपस्थित होता है। गुदा क्षेत्र में मौजूद कट में पेशाब भर सकता है, जिससे इन्फेक्शन होने और बवासीर की गंभीरता के बढ़ने की संभावना बनी रहती है। इसलिए पेशाब से बवासीर का इलाज करने की मनसा का त्याग कर देना चाहिए।
  • पेट से जुड़ी समस्याएं – पेशाब में हानिकारक बैक्टीरिया होते हैं, इन्हें पीने से आपको पेट से संबंधित समस्याएं हो सकती हैं वहीं इन्फेक्शन होने की संभावना भी अधिक हो जाती है।
  • किडनी पर दबाव – पेशाब एक वेस्ट मटेरियल है जिसे किडनी ने फ़िल्टर करके शरीर से बाहर निकाला है। पेशाब पीकर आप किडनी को दोबारा से काम दे रहे हैं। इससे किडनी को अधिक काम करना पड़ता है।

पेशाब पीना या इसे शरीर पर लगाना अनुचित है। यह आपको हानिकारक बैक्टीरिया और विषाक्त पदार्थों की तरफ एक्सपोज करेगा। शरीर की सुरक्षा के लिए इसका उपयोग नहीं करना चाहिए।

इसके लिए निम्नलिखित बातों का पालन करें:
  1. अपने मल को नरम रखने के लिए खूब सारे तरल पदार्थ पिएं और भरपूर फाइबर लें।
  2. अगर मस्सा निकल गया है, तो उसे धीरे से अंदर धकेलें।
  3. गुदा को साफ और सूखा रखें।
  4. नियमित रूप से व्यायाम करें।
  5. खुजली और दर्द को कम करने के लिए गर्म पानी से नहाएं।
  6. कब्ज से बचने के लिए शराब और कैफीन (जैसे चाय, कॉफी और कोला) का सेवन कम करें।
निष्कर्ष

Peshab se bawaseer ka ilaj– अगर आप बवासीर को जड़ से खत्म करना चाहते हैं तो डॉक्टर से इलाज कराएं। इंटरनेट में पढ़े गए उपायों को बिल्कुल भी आजमाएं नहीं। इस बात का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है कि पेशाब से बवासीर ठीक हो जाती है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.