Neeri Syrup Uses in Hindi

Neeri Syrup का उपयोग क्या है, यहाँ आप Neeri Syrup के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे। इस लेख में आप Neeri Syrup Tablet के बारे में हिंदी में जानकारी मिलेंगी।

Neeri Syrup Uses

Neeri Syrup की दवाई क्या है? इसके Uses, Benefits, Side Effects व Dosage के बारे में जानकारी पढ़ने को मिलेगा।

क़ीमत ₹228.0 / एक बोतल में 200 ml सिरप
निर्माताAimil Pharmaceutical
दवा का प्रकारAimil Neeri Syrup 200 ml, Aimil Neeri Syrup 100 ml

जानिए Neeri Syrup in Hindi की जानकारी, लाभ, फायदे, उपयोग, प्रयोग, कीमत, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, डोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां

What is Neeri Syrups

नीरी सिरप एक आयुर्वेदिक उपचार है। विभिन्न प्रकार की जड़ी-बूटियों को मिलाकर इसका निर्माण किया जाता है। यह एक वैज्ञानिक अवधारणा है। इसका उपयोग विभिन्न प्रकार के रोगों के उपचार में किया जाता है जैसे: मूत्र पथ के संक्रमण, गुर्दे की पथरी, मूत्र में जलन, पेशाब करने में कठिनाई, मूत्र या गुर्दे की पथरी, पित्त पथरी, आंतों के अल्सर और अन्य रोग। पूरा हो गया है। इस पोस्ट के माध्यम से हम जानेंगे कि नीरी सिरप का प्रयोग कहां किया जाता है। इसे इस्तेमाल करने के क्या फायदे और नुकसान हैं।

Neeri Syrup Uses & Benefits

  • नीरी सिरप पेशाब में जलन की समस्या को दूर करता है।
  • यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन को ठीक करता है।
  • गुर्दे की पथरी को धीरे-धीरे कम करता है।
  • यूटीआई इंफेक्शन की समस्या को दूर करता है।
  • इसका उपयोग मूत्र संबंधी लगभग सभी समस्याओं के उपचार में किया जाता है।
  • प्रोस्टेट कैंसर को रोकता है।
  • पेशाब की अनियमितता को दूर करता है।
  • पेशाब के रास्ते में किसी भी तरह के दर्द को रोकता है।
  • एक नेफ्रो-सुरक्षात्मक और इम्यूनो-मॉड्यूलेटर के रूप में काम करता है।

इसके अलावा यह एसिडिटी की वजह से होने वाली जलन से राहत दिलाता है। जननांग पथ के विकारों को दूर करने में मदद करता है। इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है। जीवाणु संक्रमण को दूर करता है। पाचन को बढ़ावा देता है और सूजन को कम करता है।

नीरी सिरप का उपयोग क्यों किया जाता है?

नीरी सिरप का इस्तेमाल खासतौर पर किडनी से जुड़ी समस्याओं के इलाज में किया जाता है। इसके अलावा और भी कई समस्याओं में इसका इस्तेमाल किया जाता है। जो इस प्रकार है-

  • मूत्र पथ के संक्रमण
  • गैस्ट्रिक जलन
  • कम मूत्र उत्पादन के लिए
  • दर्द
  • जीवाणु संक्रमण
  • लीवर सिरोसिस
  • पेट की समस्या
  • अत्यधिक प्यास
  • भूख में कमी
  • पाचन रोग
  • मधुमेह
  • मिरगी
  • जोड़ों का दर्द
  • गर्भाशय रक्तस्राव विकार में

इसके अलावा पेशाब से जुड़ी अन्य समस्याओं और अन्य बीमारियों में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।

Neeri Syrup Side Effects

नीरी सिरप के दुष्प्रभाव– निम्नलिखित उन संभावित दुष्प्रभावों की सूची है जो नीरी सिरप / Neeri Syrup की सभी संयोजित सामग्रियों से हो सकते है। यह एक व्यापक सूची नहीं है। ये दुष्प्रभाव संभव हैं, लेकिन हमेशा नहीं होते हैं। कुछ दुष्प्रभाव दुर्लभ हैं, लेकिन गंभीर हो सकते हैं। यदि आपको निम्नलिखित में से किसी भी दुष्प्रभाव का पता चलता है, और यदि ये समाप्त नहीं होते हैं तो अपने चिकित्सक से परामर्श लें।

  • जलता हुआ
  • कोई साइड इफेक्ट नहीं मिला
  • कोई ज्ञात दुष्प्रभाव नहीं
  • उच्च रक्त चाप
  • गुर्दा विकार

यदि आप ऊपर सूचीबद्ध नहीं किए गए किसी भी दुष्प्रभाव को देखते हैं, तो चिकित्सा सलाह के लिए अपने चिकित्सक से संपर्क करें। आप अपने स्थानीय खाद्य एवं औषधि प्रबंधन अधिकारी को भी दुष्प्रभावों की रिपोर्ट कर सकते हैं।

Neeri Syrup के खुराक के बारे में जानिए

  • 5-10 या 12 साल
    नीरी सिरप की खुराक उम्र के अनुसार अलग-अलग होती है जैसे अगर कोई बच्चा जो 5-10 या 12 साल का है तो उसे लगभग 5 एमएल सिरप दिन में दो या तीन बार लेना चाहिए और
  • 15-25 साल
    यदि यह एक युवा व्यक्ति है जिसकी उम्र 15-25 है तो उसे लगभग 5-10 मिलीलीटर सिरप दिन में 2-3 बार दिया जाता है। ऐसे में इससे अधिक उम्र के लोगों को भी 10 मिलीलीटर की खुराक दिन में 2-3 बार लेने की सलाह दी जाती है।

इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से पूछ सकते हैं जो आपको आपकी स्थिति के अनुसार सही जानकारी दे सकता है।

हम उम्मीद करते है की आपको Neeri Syrup की दवाई के बारे में सारी जानकारी हिंदी में मिल गयी होगी, इस दवाई का उपयोग से पहले अपने निजी डॉक्टर से सलाह-मशवरा जरुर ले।

Neeri Syrup के उपयोग, नुक्सान, फायदे” आपके लिए उपयोगी होगा, इसके साथ-साथ आपको Neeri Syrup के बारे में जानकारी मिल गयी होगी, अगर आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो हमे कमेंट में बता सकते है।

Similar Posts

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.