Mahasudarshan Churna Uses in Hindi

Mahasudarshan Churna का उपयोग क्या है, यहाँ आप Mahasudarshan के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे। इस लेख में आप Mahasudarshan Churna के बारे में हिंदी में जानकारी मिलेंगी।

Mahasudarshan Churna Uses in Hindi

Mahasudarshan की दवाई क्या है? इसके Uses, Benefits, Side Effects व Dosage के बारे में जानकारी पढ़ने को मिलेगा।

दवा के घटकDabur Mahasudarshan Churna
निर्माताDabur
क़ीमत ₹110.2 / एक डिब्बे में 60 gm चूर्ण

जानिए Mahasudarshan Churna in Hindi की जानकारी, लाभ, फायदे, उपयोग, प्रयोग, कीमत, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, डोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां

Mahasudarshan Churna in Hindi

Mahasudarshan Churna आयुर्वेद की विभिन्न औषधियों में से एक है। इस औषधि में मुख्य जड़ी-बूटी के रूप में चिराता (स्वार्तिया चिराता) को शामिल किया गया है। महासुदर्शन चूर्ण में खतरनाक बुखार से जुड़े लक्षणों जैसे अपच, भूख न लगना, डायफोरेटिक, एनोरेक्सिया और मतली को ठीक करने की क्षमता है।

Mahasudarshan Churna एक ऐसा विकल्प है, जो विषम ज्वर (आंतरायिक ज्वर) और सभी प्रकार के ज्वर में ज्वरनाशक के रूप में कार्य करता है।

आइए इस लेख के माध्यम से महासुदर्शन चूर्ण के फायदों के बारे में जानते हैं ताकि जरूरत के समय इसका उपयोग करने के लाभों का उपयोग किया जा सके।

Mahasudarshan Uses & Benefits

Mahasudarshan Churna अपने गुणों के कारण कई रोगों के उपचार में उपयोगी है। महासुदर्शन चूर्ण एक बेहतरीन इम्युनिटी बूस्टर है। कुछ मामलों में बुखार के गंभीर लक्षण देखे जा सकते हैं। महासुदर्शन चूर्ण के प्रयोग से इन लक्षणों में काफी हद तक राहत मिलती है।

Mahasudarshan Churna सामान्य जिगर कार्यों के समर्थन को बढ़ावा देता है। जो लोग विभिन्न यकृत विकारों से पीड़ित हैं, उन्हें इस हर्बल उपचार को लेने और शरीर के इस महत्वपूर्ण अंग से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा पाने में मदद करने की सलाह दी जाती है।

Mahasudarshan Churna में खतरनाक बुखार से जुड़े लक्षणों जैसे अपच, भूख न लगना, डायफोरेटिक, एनोरेक्सिया और मतली को ठीक करने की क्षमता है। महासुदर्शन चूर्ण एक ऐसा विकल्प है, जो विषम ज्वर (आंतरायिक ज्वर) और सभी प्रकार के ज्वर में ज्वरनाशक के रूप में कार्य करता है।

Mahasudarshan Side Effects

महासुदर्शन चूर्ण साइड इफेक्ट– निम्नलिखित दुष्प्रभाव Mahasudarshan Churna के कारण हो सकते हैं। आमतौर पर दुष्प्रभाव महासुदर्शन चूर्ण के लिए शरीर की अलग-अलग प्रतिक्रिया और गलत खुराक के कारण होते हैं और सभी के समान दुष्प्रभाव नहीं होते हैं। अत्यंत महासुदर्शन चूर्ण के दुष्प्रभाव में चिकित्सक की सहायता लें।

  • अनिद्रा
  • कम रक्त दबाव
  • आंखों में जलन
  • त्वचा की एलर्जी

Mahasudarshan Churna Doses

Mahasudarshan Churna का प्रयोग आप किसी विशेषज्ञ से सलाह के बाद ही करें। यह आम तौर पर 1-2 गोलियां भोजन के बाद गर्म पानी/दूध के साथ या चिकित्सक के निर्देशानुसार दिन में 3 बार ली जाती है। कई बार इसे लेकर गलत धारणा बन जाती है कि क्या इसकी लत लग जाएगी? तो प्रतिक्रिया में यह कहा जा सकता है कि अधिकांश दवाएं आदत या व्यसनी नहीं होती हैं।

  • डॉक्टर की सलाह के बिना कोई भी डोवा न लें।
  • कुछ दवाओं को तुरंत बंद नहीं किया जा सकता है अन्यथा प्रतिकूल प्रभाव का खतरा होता है।
  • महासुदर्शन चूर्ण को शुरू या बंद करने से पहले कृपया अपने चिकित्सक से परामर्श करें।
  • इस बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें।
  • स्तनपान की अवधि के दौरान महासुदर्शन चूर्ण के उपयोग के बारे में अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

How does Mahasudarshan Churna work?

  • त्रिफला इस चूर्ण का मुख्य सक्रिय तत्व है। यह हमेशा वायरल और बैक्टीरियल संक्रमणों के खिलाफ प्रभावी रहा है। इसमें मौजूद टैनिक और गैलिक एसिड मल को नरम कर सकते हैं और कब्ज से राहत दिला सकते हैं। त्रिफला में एलाजिक एसिड होता है, जो रोग की कठोरता को कम करता है और शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में सुधार करता है। रक्त को शुद्ध करना और रक्त को सभी अंगों तक पहुंचाना बहुत जरूरी है। ऐसे में त्रिफला रक्त संचार क्रिया को स्पष्ट करता है और आधे से अधिक रोगों का नाश करता है।
  • गुडूची (गिलोय) बुखार, पीलिया, गठिया, अम्लता, कब्ज, अपच जैसी सामान्य स्थितियों के लिए प्रयोग किया जाता है। इसमें ज्वरनाशक गुण होते हैं, जो डेंगू बुखार में काफी कारगर होते हैं। गिलोय के रस में एनीमिया के कारण होने वाले एनीमिया रोगों को ठीक करने के अपार गुण होते हैं।
  • मोठे को एक तरफ खेती के लिए समस्या बताया जाता है तो दूसरी तरफ यह अपने कई फायदों के कारण सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। मोथा घास त्वचा और पाचन संबंधी रोगों को ठीक करने का काम करती है। अत्यधिक कफ के कारण होने वाली उल्टी को रोकने और नशामुक्ति के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है।
  • मुलेठी की मिठास पित्त के विनाश का कारण बन सकती है। यह अम्लता और पाइलाइटिस के लिए एक उपयुक्त उपचार हो सकता है। पेशाब में जलन और तिल्ली के बढ़ने की समस्या से निपटने में मुलेठी मददगार हो सकती है।
  • विदांग में एक उत्कृष्ट कृमिनाशक शक्ति है। यह आंत और रक्त वाहिकाओं में कीड़े को खत्म कर पांडु रोग से राहत दिला सकता है।
  • चित्रक वात, पित्त और कफ के त्रिदोषों को ठीक करके अपना परिचय देता है। यह पेट की सूजन को दूर करता है और पेट की भंडारण और पाचन क्षमता को बढ़ाता है। चित्रक पेचिश, खुजली, मिर्गी, तंत्रिका संबंधी विकार, मोटापा, सिरदर्द, बुखार आदि के लिए प्रभावी हो सकता है।
  • लवंग में कार्मिनेटिव गुण होते हैं, जो पाचक रसों को उत्तेजित करते हैं और पाचन की प्रक्रिया का विस्तार करते हैं। लवंग का वार्मिंग प्रभाव होता है, जो श्वसन प्रणाली के पुराने विकारों के इलाज में सक्रिय हो सकता है।
  • वंशलोचन माइग्रेन के इलाज और दिमाग को शांत रखने में कारगर हो सकता है।

Mahasudarshan Churna Price

Mahasudarshan Churna की कीमत की बात करें तो इसके 60 ग्राम के डिब्बे की कीमत ₹100 से लेकर ₹150 तक होती है। और यह आपको कहीं भी किसी भी दवा की दुकान पर मिल जाएगी।

या आप इसे किसी भी ऑनलाइन स्टोर से खरीद सकते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि Mahasudarshan Churna का निर्माण कई कंपनियां करती हैं. जैसे- डाबर और बैद्यनाथ।

अन्य दवाइयों के बारे में
Evion 400 CapsuleDabur Shilajit Capsule
Becosule CapsuleBevon Syrup
Cyra D TabletMactotal Syrup
Dexorange SyrupCelin 500 Tablet
Doxt SL TabletPantop DSR Tablet

हम उम्मीद करते है की आपको Mahasudarshan की दवाई के बारे में सारी जानकारी हिंदी में मिल गयी होगी, इस दवाई का उपयोग से पहले अपने निजी डॉक्टर से सलाह-मशवरा जरुर ले।

Mahasudarshan के उपयोग, नुक्सान, फायदे” आपके लिए उपयोगी होगा, इसके साथ-साथ आपको Mahasudarshan Churna के बारे में जानकारी मिल गयी होगी, अगर आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो हमे कमेंट में बता सकते है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.