खुजली का इलाज

खुजली :- आज हम बात करेंगे की आप खुजली का इलाज किस तरह से कर सकते खुजली को सही करने की बेस्ट दवाई के बारे में आपको बताएगे आइये शुरू करते है।

खुजली का इलाज

खुजली क्या है

खुजली, हालांकि यह एक साधारण बीमारी है, लेकिन सच्चाई यह है कि जब भी किसी व्यक्ति को यह बीमारी होती है, तो वह व्यक्ति बीमार त्वचा को खरोंचते समय परेशान हो जाता है। खुजली के कई कारण हो सकते हैं। कई बार खुजली कई बीमारियों का लक्षण भी हो सकती है।

यह भी पढ़े :-

खुजली का कारण

किसी भी भोजन या दवा से एलर्जी,त्वचा का रूखा होना, ठीक से न नहाना, गंदे कपड़े पहनना, किसी विष का प्रभाव, रंगों से किसी तरह की एलर्जी, गुर्दे की कोई बीमारी, कैंसर, छपाकी (शरीर पर लाल रंग का दिखना), खुजली की समस्या हो सकती है मच्छर या अन्य कीड़े के काटने, कोई त्वचा रोग या पेट के कीड़े खुजली का कारण हो सकता है।

खुजली के लक्षण

खुजली त्वचा पर एक अप्रिय सनसनी (सनसनी) है जो क्षेत्र के बार-बार खरोंच का कारण बनती है। बिना किसी दाने या दाने के खुजली से खुजली के अन्य लक्षण भी होते हैं। खुजली पूरी त्वचा, सिर, मुंह, उंगलियों, नाक, हाथ या प्रजनन अंगों आदि में होती है। खुजली ज्यादातर इन्हीं जगहों पर होती है।

दाने के साथ या बिना दाने वाली खुजली अलग-अलग स्थितियों में अलग-अलग प्रकार की हो सकती है। कुछ खुजली नहाने के बाद कम हो जाती है, कुछ रात में कपड़े बदलते समय बढ़ जाती है, कुछ गर्म सेक से कम हो जाती है, कुछ जगह बदल जाती है। जैसे ही एक जगह की खुजली ठीक हो जाती है तो दूसरी जगह पर होने लगती है। कुछ खुजली में खुजली वाला खून निकलने लगता है।

खुजली कितने प्रकार की होती है

अर्टिकेरिया कई प्रकार की होती है। तीव्र, जीर्ण, शारीरिक, जलीय और आनुवंशिक पित्ती। अर्टिकेरिया में खुजली कुछ घंटों से लेकर कई महीनों तक रह सकती है। गर्मी, सर्दी, पसीना, पानी, बारिश, पसीना और आंसू और जीन के कारण एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में संचारित हो सकते हैं।

खुजली का इलाज

खुजली के कारण किसी भी काम को करने का मन नहीं करता, व्यक्ति चिड़चिड़ा हो जाता है। ऐसे में आपके लिए यह जानना जरूरी है कि अगर आप खुजली की समस्या से जूझ रहे हैं तो आप इन चीजों की मदद से इसे दूर कर सकते हैं :-

एलोविरा

एलोवेरा एंटी-फंगल और एंटीबैक्टीरियल है। एलोवेरा जेल को सीधे प्रभावित त्वचा पर लगाएं और रात भर छोड़ दें। यह दाद के चकत्ते आदि को ठीक करता है और स्वस्थ त्वचा के लिए कई पोषक तत्व और खनिज प्रदान करता है।

तुलसी

खुजली से राहत पाने के लिए तुलसी का प्रयोग अपने शरीर पर करें। तुलसी के कुछ पत्तों को पीसकर नारियल के तेल में मिलाकर त्वचा की मालिश करने से भी हैजा से राहत मिल सकती है। इस उपाय को करने से शरीर से फंगस को दूर करने में मदद मिल सकती है।

बेकिंग सोडा और नींबू

अगर आपके शरीर में खुजली की समस्या है तो सबसे पहले आप नहाने के लिए साफ पानी का इस्तेमाल करें, साथ ही आप पानी में एक चम्मच बेंट सोडा और कुछ चम्मच नींबू का रस भी मिला सकते हैं। इस घरेलू नुस्खे को हफ्ते में कम से कम 2 से 3 बार इस्तेमाल करें।

चंदन

आप चंदन का प्रयोग बहुत सी चीजों के लिए करते हैं, इसका प्रयोग आयुर्वेद के रूप में किया जाता है। चंदन की सुगंध अद्भुत होती है, यह शरीर से खुजली की समस्या को दूर करती है और त्वचा के लिए भी लाभकारी मानी जाती है। साथ ही आप चाहें तो खुजली वाली जगह पर भी चंदन का लेप लगा सकते हैं।

नीम

नीम का उपयोग कई स्वास्थ्य समस्याओं से लड़ने के लिए किया जाता है। ऐसे में आप नीम का इस्तेमाल खुलसी से राहत पाने के लिए कर सकते हैं। नीम के पत्तों को पीसकर प्रभावित जगह पर लगाएं। यह न सिर्फ खुजली से राहत पाने का असरदार घरेलू उपाय हो सकता है बल्कि यह खुजली से छुटकारा पाने का एक प्राकृतिक तरीका भी है।

नारियल

त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए नारियल का तेल अच्छा माना जाता है। यह न केवल खुजली वाली त्वचा से राहत देता है बल्कि त्वचा को चिकना और मुलायम भी बनाता है। इसलिए प्रभावित जगह पर नारियल का तेल लगाने से आराम मिलता है।

यह भी पढ़े :-

अंतिम शब्द :- आज हमने आपको इस पोस्ट में खुजली के बारे में जानकरी दी है आशा है आपके सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे। धन्यवाद।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *