Haldi ke Fayde or Nuksan in Hindi

Turmeric :- हल्दी के फायदे और सेवन का तरीका (Haldi benefits in Hindi and uses) हल्दी हमारे शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाती है जिस वजह से तमाम तरह की संक्रामक बीमारियों से बचाव होता है। हल्दी में वात कफ दोषों को कम करने वाले गुण होते हैं और यह शरीर में खून बढ़ाने में मदद करती है। डायबिटीज में हल्दी का सेवन बहुत ही उपयोगी माना जाता है।    

Turmeric
Turmeric

हल्दी के फायदे और नुकसान

हल्दी हम सबकी रसोई में आसानी से उपलब्ध होने वाली सामग्री है। बरसों से भोजन व घरेलू उपचार के रूप में हल्दी का उपयोग होता रहा है. इसका रंग खाने का रूप और स्वाद दोनों बदल देता है। इसकी तासीर गरम होती है। हल्दी प्रोटीन, विटामिन, आयरन, कार्बोहाइड्रेट आदि गुणों से भरपूर है.  

हल्दी कैसी होती है ?

हल्दी का पौधा 5 /6 फुट तक का होता है। इसमें जड़ की गाठों में हल्दी मिलती है। यह अदरक की प्रजाति का हल्दी का लैटि‍न नाम करकुमा लौंगा (Curcuma longa) है, जबकि इसका अंग्रेज़ी नाम : टरमरि‍क (Turmeric) है। इसका संस्कृत नाम हरीद्रा है। हल्दी की गांठों को उबालकर मसला जाता है और फिर उसका पाउडर तैयार किया जाता है, जिसे हम हल्दी पाउडर के नाम से जानते हैं। इसका स्वाद कड़वा होता है, इसलिए इसे पकाने के बाद ही खाने में मसालों के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।  

शहद और हल्दी के फायदे

  • एंटीबैक्टीरियल गुण
  • खांसी में हल्दी और शहद का उपयोग
  • हार्ट की समस्या में शहद और हल्दी का उपयोग
  • ब्रेन हेल्थ के लिए शहद और हल्दी
  • सूजन के लिए शहद और हल्दी का उपयोग
  • गले में खराश के लिए हल्दी शहद
  • एंटी एजिंग के तौर पर शहद और हल्दी का उपयोग

सेहत के लिए फ़ायदेमंद है हल्दी?

  • हल्दी में एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुण होते हैं, इसलिए सर्दी-ज़ुकाम और कफ की समस्या होने पर हल्दी मिले दूध का सेवन लाभकारी साबित होता है. सर्दी के मौसम में इसका सेवन करना लाभकारी होता है, साथ ही इससे हड्डियां मज़बूत होती हैं.
  • हल्दी के सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है, यानी इम्युनिटी बढ़ती है।
  • हाथ-पैरों में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए भी हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल किया जाता है. इससे शरीर का रक्त संचार बढ़ जाता है, जिससे दर्द में तेज़ी से राहत मिलती है.
  • हल्दी में किसी चोट के घाव को तेज़ी से भरने का भी गुण होता है. हल्दी को चूने में मिलाकर चोट पर लगाने से यह दर्द को खींच लेती है.
  • हल्दी में मौजूद करक्यूमिन की वजह से यह जोड़ों के दर्द और सूजन को दूर करने में दवाइयों से भी ज़्यादा अच्‍छा काम करता है.
  • बॉडी को डिटॉक्स करने के लिए गर्म पानी में नींबू, हल्दी पाउडर और शहद मिलाकर पिएं. यह शरीर के टोक्सिन्स को बाहर निकालने में मददगार होता है.
  • प्रतिदिन एक गिलास दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से शरीर स्वस्थ रहता है.
  • गुनगुने दूध के साथ हल्दी के सेवन से शरीर में जमा अतिरिक्त फैट धीरे-धीरे कम होने लगता है. इसमें उपस्थित कैल्शियम और अन्य तत्व वजन कम करने में भी मददगार होते हैं.
  • यह ब्लड प्यूरिफायर यानि रक्त शोधन करता है। हल्दी खाने से रक्त में मौजूद विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं और इससे ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है.
  • सोने से आधे घंटे पहले हल्दी वाला दूध पीने से नींद अच्छी आती है।
  • हल्दी में वात, पित्त व कफ़ को शमन करनेवाले व रक्त को शुद्ध करने के गुण भी हैं. खून में ब्लड शुगर की मात्रा ज्यादा होने पर मधुमेह रोग हो जाता है.
  • खून में ब्लड शुगर बढ़ने पर हल्दी वाले दूध का सेवन फायदेमंद रहता है. दूध में हल्दी मिलाकर पीने से शुगर लेवल कम होता है.
  • लेकिन याद रहे हल्दी का ज्यादा सेवन ब्लड शुगर की निर्धारित मात्रा को भी कम कर सकता हैं.

त्वचा के लिए चमत्कारी है हल्दी?

  • यदि आपको मुंहासे हैं, तो हल्दी का सेवन करने के साथ इसे मुंहासों पर भी लगाएं, इससे मुंहासों के कारण जो सूजन आई है, वो भी कम हो जाएगी और मुंहासे भी कम होगी।
  • हल्दी को चन्दन और नींबू के रस के रस में मिलाकर फ़ेस पैक बनाएं और चेहरे पर लगाएं। दस मिनट के बाद धो लें। हल्दी और तेल का उबटन का प्रयोग सदियों से काया को निखारने में किया जाता रहा है। शादियों में इसे लगाना भारतीय रीत है।
  • हल्दी का लेप चेहरे की रंगत निखारता है। दो टेबलस्पून बेसन में आधा चम्मच हल्दी और तीन चम्मच ताज़ा दही मिलकर लगाएं और सूखने पर धो लें।
  • चेहरे की झुर्रियों को कम करने के लिए भी इसका प्रयोग किया जाता है। इसके लिए हल्दी, चावल का पाउडर, कच्चे दूध और टमाटर के रस को मिला लें और चेहरे पर लगाएं। 20 मिनट बाद गुनगुने पानी से धो लें।
  • सनबर्न में हल्दी का पैक बहुत फायदेमंद है। इसके लिए हल्दी में नींबू का रस मिलकर चेहरे पर लगाएं और 20 मिनट बाद धो लें।
  • चेहरे को मोइश्चराइज़ करने में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए हल्दी को एक स्पून मिल्क पाउडर, दो चम्मच शहद और आधे नींबू के रस में मिलाकर सूखने तक चेहरे पर लगाएं।
  • चेहरे पर ग्लो लाना है तो हल्दी और 3 चम्मच बेसन में आधा चम्मच हल्दी और थोड़ा-सा दूध मिलाकर पेस्ट बनाएं और चेहरे पर लगाएं।
  • ऑयली स्किन वालों को हल्दी, संतरे का रस व चन्दन मिलाकर इस पेस्ट को फ़ेस पर लगाना चाहिए। इससे स्किन का ऑयल कंट्रोल होता है।
  • दो चम्मच खीरे के रस में एक चौथाई हल्दी मिलाकर चेहरे पर लगाने से चेहरे की रंगत निखरती है।
  • आग या गरम चीज़ से जलने पर हल्दी और एलोवेरा का लेप लगाएं, निशान हल्के हो जाएंगे।

हल्दी का फ़ेस पैक बनाते समय ये गलतियां न करें

  • कई बार हम फ़ेस पैक तो लगा लेते हैं पर ये नहीं जान पाते कि वो असर क्यों नहीं कर रहा है। अगर आपके साथ भी ऐसा है तो जान लें कि कहीं आप ये गलती तो नहीं कर रहे,।
  • हल्दी तेज़ होती है इसलिए इसका फ़ेस पैक बनाते समय ये ध्यान रखना ज़रूरी है की हम इसमें कोई अन्य तेज़ चीज़ तो नहीं मिला रहे हैं, जो त्वचा को फ़ायदे की जगह नुकसान पहुंचा रही हो।
  • हल्दी में गुलाब जल, पानी और ताज़ा दही जो खट्टा न हो, इस्तेमाल कर सकती हैं। हल्दी का पैक 20 मिनट से ज़्यादा चेहरे पर न रखें, वरना चेहरा पीला पड़ सकता है और त्वचा में जलन हो सकती है।
  • कई लोग फ़ेस पैक लगाने के बाद साबुन से चेहरा धोते हैं। ऐसा न करें।

हल्दी से हो सकते हैं नुकसान?

  • हल्दी की तासीर गरम होती है, इसलिए इसे सर्दी जुकाम में दवा के तौर पर किया जाता है लेकिन अगर आपकी तासीर गरम है तो इसका इस्तेमाल सोच-समझ कर करें। गर्मी के मौसम में हल्दी लेना अवॉइड करें।
  • पीलिया और पित्ताशय की पथरी होने पर हल्दी बहुत घातक हो सकती है। हल्दी रात के थक्के के बनने की प्रक्रिया को धीमा करती है, इसलिए इन्हें रक्त स्त्राव का खतरा हो, वो हल्दी का सेवन न करें।
  • गर्भवती महिला को हल्दी का सीमित मात्रा में इस्तेमाल करना चाहिए, ज़्यादा हल्दी खाने से गर्भपात का खतरा हो सकता है।
  • डायबिटीज़ के मरीज़ो को सावधानीपूर्वक इसका सेवन करना चाहिए, क्योंकि ज़्यादा सेवन से यह ब्लड शुगर कम कर देता है।
  • हल्दी के ज़्यादा सेवन से पेट की गर्मी, चक्कर आना, उल्टी व दस्त लगना जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

सुबह खाली पेट हल्दी पानी पीने के नुकसान

आयरन की कमी- अगर कोई हल्दी वाले पानी का अधिक सेवन करता है तो इससे शरीर में आयरन की कमी हो सकती है। इसलिए हल्दी वाले पानी का सेवन कम करना चाहिए। पथरी की समस्या- अगर किसी को पथरी की समस्या है तो उसके लिए हल्दी हानिकारक हो सकती है। इससे पथरी की समस्या बढ़ सकती है।

हिमालय स्पेमन टेबलेट के फायदे

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *