General Caste – जनरल में कौन-कौन सी जाति आती है?

जनरल में कौन-कौन सी जाति आती है: भारत में लोग कई वर्गों में बंटे हुए हैं जिनमें से जरनल भी एक वर्ग है जिसमें जातियां भी शामिल हैं, आज हम आपको उनके बारे में बताने जा रहे हैं तो चलिए शुरू करते हैं आज का टॉपिक।

General Caste

General Caste

जरनल वर्ग जाति के लोगों को उच्च जाति का कहा जाता है। इन्हें उच्च जाति और अगड़ी जाति भी कहा जाता है। उन्हें अनारक्षित श्रेणी भी कहा जाता है।इस लेख में मैं जरनल वर्ग के लोगों के लिए ‘सवर्ण’ शब्द का प्रयोग करूँगा।
 
प्राचीन काल में भारत में समाज के सफल संचालन के लिए प्रथम क्षत्रिय शासक *मनु* ने योग्यता के आधार पर समाज के लोगों को चार भागों में बांटा था।
 
  1. ब्राह्मण
  2. क्षत्रिय:
  3. वैशो
  4. शूद्र

ब्राह्मण कौनसी जाति है? पूरी जानकारी

समाज के लोगों का चार वर्ग 

इन चारो वर्गों का प्राचीन काल में बाँटा गया काम आप निचे देख सकते है इसके साथ साथ आपको बता दे की हरियाणा के सिर्फ हिंदू जाट भी आम हैं। जबकि अन्य राज्यों के जाट ओबीसी हैं।

  •  ब्राह्मण वर्ण के लोग राजगुरु, शिक्षक, पुरोहित, कवि, लेखक, दार्शनिक और राजनीतिज्ञ और वैज्ञानिक और पत्रकार थे
  • क्षत्रिय वर्ण के लोग राजा, सेनापति और सैनिक थे।
  • वैश्य वर्ण के लोग व्यापारी और व्यापारी थे
  • शूद्र वर्ण के लोग किसान और मजदूर थे।

यादव जाती का इतिहास

जरनल जाती की जनसख्या

भारत में जनरल केटेगरी के लोगों की कुल आबादी 35 % है । इससे आप अंदाजा लगा सकते है की भारत में इस जाती की जनसख्या कितनी हो सकती है ? इससे इस बात का तो पता चल जाता है की भारत में रहने वाले जरनल वर्ग की जनसख्या काफी ज्यादा है। 
 

जरनल वर्ग की जातियों की सूची

  1. ब्राह्मण – यह जाति पूरे भारत, नेपाल, बांग्लादेश, पाकिस्तान और अन्य देशों में भी मौजूद है।
  2. राजपूत – यह जाति उत्तर और मध्य भारत में है।
  3. वैश – इस जाति के लोग उत्तर और मध्य भारत में रहते हैं।
  4. भूमिहार – इस जाति के लोग बिहार, यूपी और झारखंड में हैं।
  5. कायस्थ – इस जाति के लोग उत्तर और मध्य भारत में हैं।
  6. त्यागी – इस जाति के लोग दिल्ली, हरियाणा, यूपी और एमपी में हैं।
  7. वैष्णव,- इस जाति के लोग राजस्थान और गुजरात में हैं।
  8. लहना – ये लोग गुजरात में हैं।
  9. पाटीदार पटेल- ये लोग गुजरात में हैं।
  10. मराठा – ये लोग महाराष्ट्र में हैं।
  11. लिंगायत- ये लोग कर्नाटक में हैं।
  12. बंट- इस जाति के लोग कर्नाटक में हैं।
  13. नायर- ये लोग केरल में पाए जाते हैं।
  14. मुदयलिर- ये लोग तमिलनाडु में पाए जाते हैं।
  15. चेट्टियार- ये लोग तमिलनाडु में पाए जाते हैं।
  16. रेड्डी – ये लोग आंध्र प्रदेश में पाए जाते हैं।
  17. कम्मा – ये लोग आंध्र प्रदेश में पाए जाते हैं।
  18. कापू- ये लोग आंध्र प्रदेश में पाए जाते हैं।
  19. खंडायत- ये लोग उड़ीसा में पाए जाते हैं।
  20. शिल- ये लोग बंगाल में पाए जाते हैं।
  21. पंजाबी अरोड़ा- ये लोग दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और यूपी में पाए जाते हैं।
  22. पंजाबी जाट- ये लोग दिल्ली, हरियाणा और पंजाब में हैं।

बिश्नोई समाज की जाती और इतिहास

सामान्य जाति की सूची

  • ब्राह्मण, क्षत्रिय और वैश्य उच्च जाति कहलाते हैं। कुछ समय बाद इन तीन उच्च जातियों से कई और जाति के लोग बन गए।
  • इसलिए इन नई सवर्ण जातियों को सवर्ण भी कहा जाता है। आज उच्च जाति समुदाय में लगभग 50 जातियाँ शामिल हैं। और ये सभी 50 जातियां सामान्य श्रेणी में आती हैं।
  • जबकि एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग के लोग शूद्र वर्ण से ही बने हैं। समय बीतने के साथ शूद्र वर्ण के लोग हजारों टुकड़ों में बंट गए और हजारों जातियों का निर्माण हुआ। इसलिए एससी, एसटी और ओबीसी में हजारों जातियां हैं।
  • उच्च जाति के लोग इस दुनिया में सबसे अच्छी जाति के लोग हैं। अच्छे गुणों से संपन्न होने के कारण इन्हें आर्य भी कहा जाता है। इसलिए उच्च जाति के लोग प्रतिभाशाली होते हैं। इस दुनिया में ऊंची जाति से बेहतर कोई जाति नहीं है।

Suthar Caste क्या है? सुथार समाज का इतिहास

जनरल में कौन-कौन सी जाति आती है?

 
भारत के मूल निवासी उच्च जातियाँ हैं। यानी इस देश के मूल निवासी सवर्ण हैं। सवर्ण जातियों का जन्म इसी देश में हुआ है।
जबकि SC, ST और OBC Cast के लोग दूसरे देशों से भारत आए हैं। सेंट लोग ऑस्ट्रेलिया से भारत आए हैं। जबकि अफ्रीका से एससी और ओबीसी लोग भारत आए हैं।
 
अफ्रीका के सूडान से अनुसूचित जाति के शूद्र लोग भारत आए हैं। ओबीसी कुर्मी जाति के लोग अफ्रीका के केन्या देश से भारत आए हैं। जाति का यादव ओबीसी लोग अफ्रीका के अल्जीरिया देश से भारत आए हैं।
 
जब ये लोग दूसरे देश से भारत आए, और उच्च जातियों से विनम्रतापूर्वक कहा कि हमें भारत में रहने दो क्योंकि हमारे देशों में भूख और महामारी फैल गई है। तो यह सुनकर सवर्णों को उन पर दया आ गई।
 
ऊंची जातियों ने उन्हें यहां रहने दिया। क्योंकि ऊंची जातियां उदार और दयालु हैं। लेकिन आज एससी, एसटी और ओबीसी के लोग कहते हैं कि ऊंची जातियां बाहर से भारत आई हैं। जबकि भारत के असली निवासी सवर्ण हैं।

ब्राह्मण में कौन-कौन सी जाति आती है

 
क्रमांक नाम जाति
9 प्रतीक तिवारी ब्राह्मण
10 राहुल दुबे पंडित
11 गोविन्द सिंह किरार
12 आशीष अग्रवाल वैश्य

ओबीसी में कौन सी जाति आती है

ओबीसी में कौन-कौन सी जाति आती है (OBC me kon kon si cast aati hai) इस सूची में जिन जातियों को जोड़ा गया था वे निषाद, बिंद, मल्लाह, केवट, कश्यप, भार, धीवर, बाथम, मचुआ, प्रजापति, राजभर, कहार, कुम्हार, धीमर, मांझी, तुहा और गौर हैं, जो पहले अन्य पिछड़ी जातियां (ओबीसी) श्रेणी थे।

वैश्य में कौन-कौन सी जाति आती है?

 
‘वैश्य’ भारत में हिन्दुओं की जाति व्यवस्था में चार वर्णों में से एक है। किसान, पशुपालक और व्यापारी समुदाय इस वर्ण में शामिल हैं। ‘वैश्य’ शब्द वैदिक ‘विश्’ से निकला है।

ST में कौन-कौन सी जाति आती है

 

1

अद धर्मी

29

बघी नगालू

2

बाल्मिकी, भंगी, चुहडा

30

बन्धेला

3

बंगाली

31

बंजारा

4

बंसी

32

बरड

5

बरड, बुराड, बेराड

33

बटवाल

6

बोरिया, बावरीया

34

बाजीगर

7

भजड़ा,

35

चमार, जतियां, चमार, रहगड़,

8

चनाल

36

छिम्बे, धोबी

9

डागी,

37

दराई,

10

दरयाई

38

दावले

11

धाकी तुरी

39

धनक

12

धोगरी

40

धागरी.सिगी

13

डूम,डूमणा

41

गगरा

14

गधीला,गादीमा, गोदिला

42

हाली

15

हैसी

43

जोगी

16

जुलाह, कबीर पंथी,कोर

44

कमोह,डगोली

17

कराक

45

खटीक

18

कोली

46

लोहार

19

मरीजे,मरीचा

47

मजहवी

20

मैघ

48

नट

21

औड,

49

पासी

22

परना

50

फरेड़ा

23

रेहड़

51

सुनाई

24

सन्हाल

52

संसी भेडकुट मनेश

25

सनसुई

53

सपेला

26

सरडे, सरयाड़े

54

सिकलीगर

27

सीपी

55

सिरकिन्द

28

तेली

56

ठठीयार, ठठेरे

 
 

निष्कर्ष :- इस आर्टिकल में हमने आपको जरनल जाती के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दी है तथा आपको बताया है की इस जाती में कितने वर्ग होते है |अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया तो अपने दोस्तों को भी शेयर करे ताकी उनको भी जरनल जाती के बारे में जानकारी मिले। 

Similar Posts

2 Comments

  1. Yadav agar aljiriya Africa se aye hai to fir bhagwan Krishan Africa se Mathura main aye honge. Abe bhai har jati yhi thi koi bhar se nhi aai. Bhagwan ram rajput the unke time m bhi nisad nai dhobhi sari cast thi. Ramyan pad le phle .

Leave a Reply

Your email address will not be published.