गर्भ में लड़के की हलचल, जानिए क्या पहचान है?

गर्भ में लड़का किस साइड रहता है। अगर आपके पेट में पल रहा बच्चा लड़का है, तो लड़का गर्भ में किस side रहता है। Ladka pet me kab halchal karta hai गर्भ में लड़का होने के सिम्पटम्स (symptoms) किस side से आप यह पता लगा सकते हैं, कि आपके पेट में पल रहा बच्चा लड़का है ,या लड़की है।

वैसे तो पुराने जमाने की ओर से यह बड़ी ही आसानी से पता लगा लेती थी, कि औरत के पेट में पल रहा बच्चा लड़का है, या लड़की है, या फिर पुत्र है, या पुत्री है। Pregnancy पक्की होने के बाद महिला में कुछ ऐसे हार्मोनल (hormonal) बदलाव होते हैं। जिससे कि आप बड़ी आसानी से यह पता लगा सकते हैं।

गर्भ में लड़का किस साइड में रहता है?

Garbh me boy kis side hota hai या फिर गर्भ में मैं पल रहा बच्चा लड़का है, या लड़की है, यानी पुत्र है, या पुत्री है। वैसे तो गर्भ में पल रहा बच्चा कोई भी हो उससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। गर्भ में पल रहा बच्चा लड़की हो, या लड़का परिवार वालों के लिए तो एक ही समान होते हैं।

लेकिन कई सारे लोग यह चाहते हैं, कि उनके घर में बैठा ही हो क्योंकि अगर पहले लड़की (Ladki) हो जाती है तो सभी यह चाहते हैं, कि दोबारा होने वाला बच्चा लड़का ही हो। यूं तो हर औरत का सपना होता है मां बनाना, फिर चाहे वो लड़का हो या लड़की।

मगर ज्यादातर लोगों के मन में बेटा या बेटी होने को लेकर कई सवाल चलते रहते हैं। कानूनी तौर पर इसकी जांच पर रोक है, मगर आप कुछ घरेलू तरीकों से भी इसका पता लगा सकते हैं।

गर्भ में बच्चे की हलचल को कैसे जाने

  • मां की कोख में लड़का है या लड़की, इस बात को जांचने का सबसे अच्छा तरीका है महिला के पेट का आकार। अगर गर्भवती स्त्री के पेट का निचला हिस्सा फूला हुआ और उभरा हुआ हो तो ये गर्भ में लड़के के होने का संकेत देता है।
  • वहीं अगर किसी महिला के हाथ सुंदर दिखने लगे और हथेली मुलायम हो जाए तो ये लड़की होने का संकेत होता है। क्योंकि माना जाता है कि लड़कियां सौम्यता को बढ़ावा देती हैं। उसके प्रभाव से गर्भवती स्त्री की सुंदरता बढ़ जाती है।
  • अगर किसी स्त्री के गर्भ में लड़का पल रहा हो तो औरत के पैर ठंडे रहते और बाल झड़ने लगते हैं। इस दौरान महिला का मूड भी हमेशा बदलता रहता है।
  • जो महिलाएं गर्भावस्था के दौरान बाईं करवट लेकर सोना पसंद करती हैं तो समझ जाना चाहिए कि आपकी कोख में लड़का है। इस दौरान स्त्री के सिर में भी काफी दर्द रहता है।
  • गर्भ में लड़का है या लड़की इसे जांचने का एक बेहतर तरीका है बेकिंग सोडा। इसके प्रयोग के लिए गर्भवती स्त्री को सुबह उठते ही अपने सबसे पहले यूरीन को किसी बाउल में रख दें। अब इसमें एक चम्मच बेकिंग सोडा डाल दें। अगर यूरीन में झाग न निकलें तो समझे कोख में लड़का है।
  • अगर किसी महिला को खूब पानी पीने के बावजूद पीले रंग की पेशाब होती है, तो इसे लड़का होने का संकेत माना जाता है। क्योंकि गर्भ में लड़की के होने पर यूरीन का रंग हल्का गुलाबी व सफेद रहता है।
  • गर्भावस्था के दौरान अगर महिला को मीठा खाने का मन होता है तो इसे गर्भ में लड़की होने का संकेत समझा जाता है। माना जाता है कि कोख में लड़की के पलने से मां को मिठाईयां, आइस्क्रीम, चॉकलेट्स खाने का मन करता है।
  • जिन प्रेगनेंट औरतों को गर्भावस्था के दौरान कम भूख लगती है, खाना खाने का मन नहीं होता है, जी मिचलाता है एवं उल्टियां होती हैं तो समझ जाएं कि आपके गर्भ में लड़का पल रहा है।
  • जिन महिलाओं को गर्भावस्था में पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द होता है, इसे लड़की होने का संकेत माना जाता है। कहते हैं लड़कियां लीवर के पास वाली जगह लात मारती हैं।
  • जिन स्त्रियों के प्रेगनेंसी में मुंहासे निकल आते हैं, इसे गर्भ में लड़का होने का संकेत माना जाता है। इस दौरान महिला के स्वभाव में भी काफी बदलाव आते हैं। महिला में चिड़चिड़ापन बढ़ जाता है।

अल्ट्रासाउंड में लड़के की क्या पहचान है

अल्ट्रासाउंड में लड़के की क्या पहचान है- जैसा कि यह पता चला है, लिंग अल्ट्रासाउंड बहुत सटीक हैं। हाल ही के एक अध्ययन में पाया गया कि अल्ट्रासाउंड तकनीशियन ने शिशु के लिंग का 98 प्रतिशत सही रूप से अनुमान लगाया है।

फिर भी, आपकी व्यक्तिगत परीक्षा के परिणाम कई कारकों पर निर्भर करते हैं, जिसमें समय, आपके बच्चे की स्थिति, आपके शरीर का आकार और चाहे आप कई गुना भी शामिल हैं।

कैसे पता लगाएं कि पेट में लड़का है?

​गर्भ में बेटा होने के लक्षण

  • आपकी बेटी की धड़कनें एक मिनट में 140 बीट से ज्यादा है।
  • आपके पेट का आकार गोल है। …
  • आपका चेहरा मुरझाने लगा है। …
  • आपका बायां स्तन दाएं स्तन से बड़ा है। …
  • गर्भावस्था में आपको मीठा जैसे जूस, मिठाई आदि खाने की चाह ज्यादा हुई है।

चौथे महीने में गर्भ में लड़का होने के लक्षण

 आप जन्म से पहले शिशु के लिंग के बारे में पूर्वानुमान लगा सकते हैं। आपने शायद लोगों को कहते सुना होगा कि यदि गर्भ में शिशु अधिक क्रियाशीलव सक्रिय न हो, तो शायद गर्भ में पुत्री होने की संभावना होती है। या फिर यदि आपको शिशु की हलचल जल्दी महसूस होनी लगे, तो शायद गर्भ में पुत्र पल रहा होता है। गर्भ में शिशु कितना हिल-डुल रहा है और आप कितनी हलचल महसूस करती हैं, इस पर बहुत सी चीजों का प्रभाव पड़ता है। इनमें शामिल हैं: 

  • क्या आपका वजन सामान्य से अधिक है
  • आप कितनी व्यस्त और सक्रिय हैं
  • क्या आप खड़ी हुई हैं या लेटी हुई अवस्था में हैं
  • आपने कितनी देर पहले खाना खाया था

गर्भ में बेटी होने के लक्षण

यदि यह आपकी दूसरी गर्भावस्था है, तो शायद शिशु की हलचल पहली गर्भावस्था की तुलना में अलग महसूस हो। आपको फड़फड़ाने जैसी अनुभूती पहली गर्भावस्था की तुलना में दूसरी में जल्दी महसूस हो सकती है।

यह सोचना अच्छा लग सकता है कि आपके गर्भ में ये शिशु पहले बच्चे से विपरीत लिंग का होगा, ध्यान रखें कि शिशु का लिंग इस बात से निर्धारित होता है कि आपके पति के कौन से शुक्राणु से आपके डिंब का निषेचन हुआ है।

यदि पुरुष गुणसूत्र वाला शुक्राणु आपके डिंब को निषेचित करता है, तो आप पुत्र को जन्म देंगी। वहीं, महिला गुणसूत्र वाले ​शुक्राणु से निषेचन होने पर पुत्री का जन्म होता है। शिशु के लिंग के बारे में जानने की उत्सुकता होना एकदम सामान्य है।

हालांकि, भारत में गर्भावस्था के दौरान शिशु के लिंग का पता करना गैरकानूनी है, क्योंकि बहुत से माता-पिता शिशु का लिंग उनकी इच्छानुसार न होने पर गर्भपात करवा लेते हैं। यदि आप फिर भी पूर्वानुमान लगाना चाहती हों, तो आप मनोरंजन के लिए चाइनीज जेंडर प्रेडिक्टर आजमा सकती हैं!

गर्भ में लड़का होने के लक्षण

गर्भ में लड़का होने के शुरुआती लक्षण-

  • आपकी बेटी की धड़कनें एक मिनट में 140 बीट से ज्यादा है।
  • आपके पेट का आकार गोल है। …
  • आपका चेहरा मुरझाने लगा है। …
  • आपका बायां स्तन दाएं स्तन से बड़ा है। …
  • गर्भावस्था में आपको मीठा जैसे जूस, मिठाई आदि खाने की चाह ज्यादा हुई है।
Garbh me ladka hone ke lakshan in Hindi

किस महीने में लड़का होता है?

कहते हैं कि लड़का पैदा होगा या लड़की, इस बात के संकेत प्रेगनेंसी के नौ महीनों में ही मिल जाते हैं। कंसीव करने के बाद गर्भावस्‍था के नौ महीने पूरे होने तक महिलाओं के साथ-साथ पूरे परिवार के मन में यह सवाल आता है कि लड़का पैदा होगा या लड़की। भारत में तो बच्‍चे के लिंग के बारे में जन्‍म से पहले बताना अपराध है।

गर्भ में लड़का होने पर कहां दर्द होता है?

गर्भ में लड़का होने पर कहां दर्द होता है- जो महिलाएं गर्भावस्था के दौरान बाईं करवट लेकर सोना पसंद करती हैं तो समझ जाना चाहिए कि आपकी कोख में लड़का है। इस दौरान स्त्री के सिर में भी काफी दर्द रहता है।

गर्भ में बच्चा नीचे होने पर क्या करें?

लगभग 3 से 4 फीसदी महिलाओं में प्रेगनेंसी (Pregnancy) के दौरान गर्भ में बच्‍चा उल्‍टा होने की समस्‍या देखी जाती है। इस स्थिति में गर्भाशय के अंदर शिशु का सिर ऊपर की तरफ और पैर नीचे बर्थ कैनाल की ओर आ जाते हैं।

नॉर्मल प्रेगनेंसी में डिलीवरी से पहले अपने आप ही शिशु का सिर नीचे की ओर आ जाता है, इस पोस्ट में आपको गर्भ में लड़के या लड़की की हलचल कैसे जाने और अल्ट्रासाउंड में लड़के की क्या पहचान है, इस बारे में बताया गया आगे और जानकारी के लिए पर क्लिक करे|

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.