Fenugreek Seeds in Hindi – मेथी के फायदे और नुकसान

Fenugreek Seeds :- अगर बात मेथी की करे तो मेथी (Fenugreek) के बीज गर्म प्रकृति के होते हैं, इसलिए सब्जी बनाते समय इसका प्रयोग बहुत ही कम मात्रा में किया जाता है। अगर आप मेथी (Fenugreek) दाने का सेवन कर रहे हैं तो इसे कम मात्रा में करें। इसलिए पूरी पोस्ट पढ़े और मेथी के फायदे और नुकसान के बारे में पूरी जानकारी ले |

Fenugreek Seeds
Fenugreek Seeds

मेथी की जानकारी

मेथी हरी पत्तियों और सफेद फूलों वाला एक औषधीय पौधा है। इसका पौधा बहुत छोटा होता है और बीज छोटे, चपटे, पीले, भूरे और सुगंधित फूल होते हैं। एक तरह से देखा जाए तो मेथी का इस्तेमाल मसाले के तौर पर किया जाता है, इसलिए मेथी हर घर में मिल जाना आम बात है।   मेथी सेहत के लिहाज से बहुत फायदेमंद होती है। मेथी की पत्तियों से बनी सब्जियां खाना हर किसी को पसंद होता है और साथ ही इसके पोषक तत्व हमारे शरीर को स्वस्थ रखते हैं। मेथी की सुगंध बहुत तेज होती है और इसका स्वाद कड़वा होता है।

मेथी में पोषक तत्व:

मेथी में नियासिन, प्रोटीन, लाइसिन, विटामिन सी, कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, वसा, फाइबर, लोहा, मैंगनीज, तांबा, मैग्नीशियम, फास्फोरस, विटामिन बी 6, फोलिक एसिड, सोडियम, जिंक, थायमिन, कैल्शियम, विटामिन सी कई K, पानी, कैरोटीन, ट्रिप्टोफैन जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी हैं।

दांत के कीड़े (Tooth worms) का इलाज

मेथी के फायदे ?

आइए, अब हम मेथी के फायदे जान लेते हैं। वैसे बात करे मेथी के फायदे की तो मेथी के बहुत  फायदे है | जिसमे से कुछ मुख्य मेथी के 10 फायदे के बारे में बताते है |

1). मधुमेह राहत

मधुमेह के रोगियों को अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। ऐसे लोग मेथी के दानों को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। इसकी पुष्टि के लिए एक वैज्ञानिक शोध किया गया, जिसके अनुसार मेथी के सेवन से रक्त में शर्करा की मात्रा को नियंत्रित किया जा सकता है। इसके अलावा, यह टाइप-2 मधुमेह के रोगियों में इंसुलिन प्रतिरोध को कम करने का काम भी कर सकता है ।    वहीं, एक अन्य शोध के अनुसार मधुमेह पर इसका लाभकारी प्रभाव इसमें मौजूद हाइपोग्लाइसेमिक प्रभाव के कारण हो सकता है। यह रक्त में शर्करा की मात्रा को कम करने के लिए जाना जाता है । इसलिए सामान्य ब्लड शुगर वालों को इसके अधिक सेवन से बचना चाहिए।

2). कोलेस्ट्रॉल के लिए

शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल के बढ़ने से कई समस्‍याएं उत्‍पन्‍न हो सकती हैं। ऐसे में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए मेथी का इस्तेमाल एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। दरअसल, एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार मेथी के दानों में नारिंगिन नाम का फ्लेवोनॉयड होता है।    यह रक्त में लिपिड के स्तर को कम करके काम कर सकता है। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जिससे रोगी के उच्च कोलेस्ट्रॉल को कम किया जा सकता है । इसलिए, यह कहा जा सकता है कि मेथी के बीज के फायदे कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए हो सकते हैं।

3). गठिया दर्द

जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, जोड़ों में सूजन आने लगती है, जिससे असहनीय दर्द हो सकता है। इसे जोड़ों का दर्द या गठिया कहते हैं। इससे निपटने के लिए मेथी एक रामबाण औषधि है, जिसका इस्तेमाल सदियों से किया जा रहा है। मेथी में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं।    ये फायदेमंद तत्व जोड़ों की सूजन को कम करके गठिया के दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। मेथी आयरन, कैल्शियम और फास्फोरस से भी भरपूर होती है। इसलिए मेथी के औषधीय गुण हड्डियों और जोड़ों को जरूरी पोषक तत्व प्रदान करते हैं, जिससे हड्डियां स्वस्थ और मजबूत बनी रहती हैं

4). दिल के लिए

दिल के बेहतर कामकाज के लिए मेथी के सेवन की सलाह दी जाती है। जो लोग नियमित रूप से मेथी का सेवन करते हैं, उन्हें दिल का दौरा पड़ने की संभावना कम हो सकती है और अगर दौरा पड़ भी जाए तो जीवन के लिए खतरनाक स्थिति से बचा जा सकता है। विभिन्न शोधों में पाया गया है कि मृत्यु दर के पीछे दिल का दौरा एक प्रमुख कारण है। यह तब होता है जब हृदय की धमनियों में ब्लॉकेज हो जाता है। वहीं, मेथी दाना इस स्थिति से बचाव करने में सक्षम हो सकता है।    अगर किसी को दिल का दौरा भी पड़ जाए तो भी मेथी ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को होने से रोकने का काम कर सकती है। हार्ट अटैक के दौरान ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस की स्थिति जानलेवा साबित हो सकती है। साथ ही मेथी दाना शरीर में रक्त के प्रवाह को संतुलित रखने में सहायक हो सकता है, जिससे धमनियों में ब्लॉकेज नहीं हो सकता । ऐसे में मेथी दाना खाने के फायदे में दिल को स्वस्थ रखना भी शामिल है।

5). मासिक धर्म में लाभकारी

मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को असहनीय दर्द से गुजरना पड़ता है। ऐसे में अगर आप सोच रहे हैं कि मेथी खाने से क्या होता है तो हम आपको बता दें कि ऐसी स्थिति में मेथी के दानों से बना पाउडर राहत दिलाने में कारगर हो सकता है। इसके साथ ही मेथी के बीज मासिक धर्म से जुड़ी अन्य समस्याओं से भी राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। मेथी के बीज में एंटी-इंफ्लेमेटरी, एनाल्जेसिक, एंटीस्पास्मोडिक और मूत्रवर्धक गुण होते हैं।    वैज्ञानिक शोध में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि मेथी के ये गुणकारी तत्व मासिक धर्म में होने वाले हर तरह के दर्द को दूर करने का काम कर सकते हैं, जिसे मेडिकल भाषा में डिसमेनोरिया कहते हैं। ध्यान रहे कि मासिक धर्म होने पर डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन कम मात्रा में करना चाहिए।

6). कैंसर

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है इसलिए इस समस्या से दूर रहना ही बेहतर है। इसके लिए मेथी दाना के फायदे देखे जा सकते हैं। एक मेडिकल रिसर्च के अनुसार मेथी में कैंसर रोधी प्रभाव पाए जाते हैं, जो कैंसर की समस्या को दूर रखने का काम कर सकते हैं । हां, अगर कोई कैंसर से पीड़ित है तो उसे बिना देर किए डॉक्टर से इलाज करवाना चाहिए।

7). स्तन-दूध बढ़ाता है

डिलीवरी के बाद नवजात के लिए मां के दूध से बेहतर कुछ नहीं होता। ऐसे में स्तनपान कराने वाली महिला मेथी के बीज से बनी मेथी या हर्बल चाय का सेवन कर सकती है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर मौजूद एक शोध में यह भी कहा गया है कि स्तन के दूध की गुणवत्ता और मात्रा बढ़ाने के लिए मेथी का सेवन किया जा सकता है ।    इस संबंध में मेथी कैसे काम करती है, यह जानने के लिए फिलहाल इस पर और शोध किए जाने की जरूरत है।

8). वजन घटाने के लिए

अगर किसी को वजन कम करना है तो इसके लिए मेथी का इस्तेमाल मददगार साबित हो सकता है। दरअसल, मेथी शरीर में चर्बी को जमा होने से रोकने का काम कर सकती है। इसमें अच्छी मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जो डाइट को पचाने के साथ-साथ भूख को भी दूर रखने का काम कर सकता है। इससे वजन बढ़ने से रोका जा सकता है    इसके अलावा मेथी में कई तरह के पॉलीफेनोल्स पाए जाते हैं, जिससे वजन कम हो सकता है । इसलिए कहा जा सकता है कि मेथी खाने के फायदे वजन घटाने के लिए हो सकते हैं।

9). रक्तचाप में सुधार

उच्च रक्तचाप हृदय की समस्याओं सहित कई तरह की बीमारियों को जन्म दे सकता है। मेथी के औषधीय गुण इस समस्या को कम करने में मदद कर सकते हैं। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार मेथी में उच्चरक्तचापरोधी प्रभाव होता है, जो रक्तचाप की समस्या को कम करने का काम कर सकता है।

10). स्वस्थ किडनी

कई वैज्ञानिक शोधों में यह दवा बन चुकी है कि मेथी किडनी के लिए फायदेमंद होती है। मेथी को अपने आहार में शामिल करने से किडनी की कार्यक्षमता में सुधार हो सकता है। मेथी के बीजों में पॉलीफेनोलिक फ्लेवोनोइड्स होते हैं, जो किडनी को बेहतर ढंग से काम करने में मदद करते हैं। साथ ही यह किडनी के चारों ओर एक सुरक्षा कवच बनाता है, जिससे इसकी कोशिकाओं को नष्ट होने से बचाया जा सकता है। एनसीबीआई  से उपलब्ध एक शोध से इसकी पुष्टि होती है।

सिर दर्द का पक्का इलाज – सिर दर्द से बचने के उपाय

Side Effects Of Fenugreek ?

मेथी का इस्तेमाल न सिर्फ स्वाद के लिए किचन में किया जाता है, बल्कि कई लोग इसे स्वास्थ्य लाभ के लिए दवा के रूप में भी इस्तेमाल करते हैं। अगर आप भी सेहत के लिए मेथी दाना खो देते हैं तो जान लें इससे होने वाले नुकसान-

मेथी हो सकती है खतरनाक, ये हैं इसके 5 गंभीर नुकसान

1). जरूरी नहीं कि मेथी का सेवन सभी के लिए फायदेमंद हो, कुछ लोग इससे पीड़ित भी होते हैं। खासकर जो लोग ब्लड शुगर या डायबिटीज के मरीज हैं, उन्हें इसका सेवन सावधानी से करना चाहिए, क्योंकि यह शुगर के स्तर को प्रभावित करता है।  

2). कई बार इसे खाने से पेट में गैस बनना, खट्टी डकारें आना आदि समस्याएं भी हो जाती हैं। इससे बचने के लिए इसकी मात्रा का विशेष ध्यान रखें और अगर यह आपको जंचता नहीं है तो इसे न खाएं।  

3). कई बार मेथी खाने से भी त्वचा संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। इसके सेवन से त्वचा पर सूजन या दर्द जैसी समस्या भी हो सकती है।  

4). इसका स्वाद गर्म होता है। इससे यूरिनरी प्रॉब्लम भी हो सकती है। मूत्र में अजीब गंध या अन्य समस्याओं से बचने के लिए इसका प्रयोग विवेकपूर्ण तरीके से करें।  

5). गर्भवती महिलाओं या नवजात शिशुओं की माताओं को इसका सेवन सावधानी से करना चाहिए। इससे डायरिया आदि समस्याएं हो सकती हैं।

अंतिम शब्द :- इस आर्टिकल में हमने आपको मेथी क्या है और इसके फायदे नुकसान के बारे में बड़े ही विस्तार से बताया है | अगर आपको हमारा ये पोस्ट पसंद आये तो कमेंट करे तथा अपने दोस्तों को भी शेयर करे ताकि उनको भी मेथी के फायदे और नुकसान के बारे में पता चले |

Similar Posts

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.