डाबर शिलाजीत कैप्सूल(Dabur Shilajit Capsule) खाने के फायदे व नुकसान क्या है ?

Dabur Shilajit Capsule :- शिलाजीत हमारे मस्तिष्क को स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाती है. शिलाजीत स्मरण शक्ति को बढ़ाने में भी सहायता है. एक अध्ययन के अनुसार, शिलाजीत रक्त में ग्लूकोज के स्तर को कम करने में सहायक है. शिलाजीत शरीर में कैंसर सेल्‍स को बढ़ने से रोकती है तथा उससे लड़ने के लिए ताकत प्रदान करती है.

Dabur Shilajit Capsule

डाबर शिलाजीत गोल्ड के फायदे क्या है ?

  • डाबर शिलाजीत गोल्ड पुरुषों के यौन स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है
  • मर्दाना कमजोरी को दूर करता है और यौन शक्ति को बढ़ाता है
  • पुरुषों के शुक्राणुओं की गुणवत्ता को सुधारता है
  • शरीर के आंतरिक बल और सामर्थ्य में वृद्धि करता है
  • मांसपेशियों को मजबूत बनाता है
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करके बीमारियों से बचाता है

डाबर शिलाजीत गोल्ड की खुराक कितनी लेनी चाहिए ?

  • डाबर शिलाजीत गोल्ड की 1 कैप्सूल दिन में दो बार दूध के साथ या चिकित्सक के निर्देशानुसार लें.

शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल क्या काम करता है?

यह प्रॉडक्ट मसल को टाइट करने का काम करता है। डाबर के प्रॉडक्ट शिलाजीत गोल्ड की मार्केटिंग कामोत्तेजना बढ़ाने वाली दवा के रूप में की जाती है। ऐसे प्रॉडक्ट्स की बिक्री में बढ़ोतरी की प्रमुख वजह सेक्स वर्जना का धीरे-धीरे खत्म होना है। साथ ही, ज्यादा से ज्यादा महिलाएं भी अब इस प्रॉडक्ट का इस्तेमाल कर रही हैं।

शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल कब खाना चाहिए?

अनिद्रा की समस्या टेस्टोस्टोरोंस हार्मोन की कमी के कारण होता है। जबकि शिलाजीत खाने से यह हार्मोन बढ़ जाता है। इसलिए रात में सोने से पहले आप शिलाजीत का सेवन करें।

शिलाजीत कितने दिन तक खाना चाहिए?

यदि आप आम शिलाजीत ले रहे हैं तो चने के दाने जैसा इसका आकार होता है आप दिन के अंदर 2 से 3 बार इन दानों को दूध के साथ पी सकते हैं। ‌‌‌यदि आप तरल शिलाजीत का सेवन कर रहे हैं तो दिन मे दूध के साथ बस दो चमच ले सकते हैं। ‌‌‌जिन लोगों की उम्र 50 साल से अधिक हो चुकी है वे इसको 3 महिने तक रोजाना दूध के अंदर मिलाकर ले सकते हैं।

शिलाजीत खाने से क्या नुकसान होता है?

  • गर्मी और एलर्जी के चलते त्वचा पर फोड़े-फुंसी, रैशेज और इरिटेशन जैसी परेशानियां दिखना भी इंडियन वियाग्रा यानि शिलाजीत का साइड-इफेक्ट हो सकता है.
  • शिलाजीत के सेवन से उल्टी होना, बेचैनी महसूस करना या फिर हार्ट बीट भी बढ़ सकती है.
  • बार-बार पेशाब करने की इच्छा भी शिलाजीत के अत्यधिक सेवन का एक साइड-इफेक्ट हो सकता है.

क्या शिलाजीत से वजन बढ़ता है?

आयुर्वेद के अनुसार, इस औषधि का असर एक सप्‍ताह के अंदर ही दिखने लगता है. इसके तेजी से वजन बढ़ता है. इसके सेवन की विधि बहुत ही आसान है.

शिलाजीत खाने से क्या होगा?

शिलाजीत स्मरण शक्ति को बढ़ाने में भी सहायता है. एक अध्ययन के अनुसार, शिलाजीत रक्त में ग्लूकोज के स्तर को कम करने में सहायक है. शिलाजीत शरीर में कैंसर सेल्‍स को बढ़ने से रोकती है तथा उससे लड़ने के लिए ताकत प्रदान करती है. सेक्‍स पॉवर बढ़ती है.
इस ब्लॉग पोस्ट में आपको डाबर शिलाजीत कैप्सूल खाने के फायदे व नुकसान क्या है बताया गया है आगे और जनकारी के लिए यह क्लिक करे 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *