Chandraprabha Vati Uses in Hindi

Chandraprabha Vati का उपयोग क्या है, यहाँ आप Chandraprabha Vati के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे। इस लेख में आप Chandraprabha Vati के बारे में हिंदी में जानकारी मिलेंगी।

Chandraprabha Vati Uses in Hindi

Chandraprabha Vati की दवाई क्या है? इसके Uses, Benefits, Side Effects व Dosage के बारे में जानकारी पढ़ने को मिलेगा।

विक्रेताAYURVEDANT PRIVATE LIMITED
निर्माताBaidyanath
दवा का प्रकारBaidyanath Chandraprabha Vati (80), Chandraprabha Vati (100)

जानिए Chandraprabha Vati in Hindi की जानकारी, लाभ, फायदे, उपयोग, प्रयोग, कीमत, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, डोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां

What is Chandraprabha Vati

Chandraprabha Vati आयुर्वेद में बहुत प्रसिद्ध और उपयोगी वटी है। इसके नाम से भी इसके गुणों का पता चलता है। चंद्र यानि चंद्रमा, प्रभा यानी इसकी चमक यानी चंद्रप्रभा वटी के सेवन से शरीर में चंद्रमा जैसी चमक या तेज और बल का निर्माण होता है। इसलिए शारीरिक दुर्बलता पैदा करने वाले लगभग सभी रोगों में चन्द्रप्रभा वटी अन्य औषधियों के साथ भी दी जाती है।

Chandraprabha Vati Uses

Chandraprabha Vati का उपयोग निम्नलिखित लक्षणों और स्थितियों को रोकने या उनका इलाज करने के लिए किया जाता है।

  • सांस की तकलीफ
  • अंडकोष की सूजन
  • चर्म रोगों में
  • असंतुलित महिला हार्मोन
  • पेशाब में जलन
  • चीनी
  • नेत्र रोगों में
  • शीघ्रपतन और वीर्य संक्रमण में
  • यौन संचारित रोगों में
  • गर्भाशय में समस्या होना
  • कैंसर, खुजली आदि में
  • मानसिक थकान में
  • फोडा
  • नपुंसकता में
  • पीरियड्स में दर्द
  • बार-बार गर्भपात
  • पत्थर में
  • शुक्राणु दोष में
  • ठंड में
  • दिल की बीमारी

Chandraprabha Vati Benefits

चंद्रप्रभा वटी का उपयोग करने के निम्नलिखित लाभ हैं। लेकिन इसे इस्तेमाल करने का तरीका अलग है। लेकिन ध्यान रहे, किसी भी विकार की रोकथाम या उपचार में इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या विशेषज्ञ से सलाह लें।

  • यह यूरिक एसिड के स्तर को बनाए रखता है, जिससे गाउट का इलाज होता है और किडनी के स्वस्थ कार्य को बढ़ावा मिलता है।
  • मूत्र संबंधी विकारों को दूर करता है।
  • मधुमेह के उपचार में सहायक।
  • प्रजनन क्षमता और प्रजनन स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है।
  • हार्मोन असंतुलन को ठीक करता है।
  • यह शुक्राणुओं की संख्या और गतिशीलता को बढ़ाता है और यौन स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है।
  • नपुंसकता और बुरे सपने का इलाज करता है।
  • रक्तचाप को सामान्य करने में सहायक।
  • तनाव और थकान को दूर करता है।
  • यह जोड़ों के दर्द, जोड़ों की सूजन, सिर दर्द आदि में लाभकारी होता है।
  • वीर्य वृद्धि के मामलों में भी सहायक।
  • प्रोटीनुरिया (मूत्र में आवश्यक प्रोटीन की कमी) के उपचार में सहायक जिससे शरीर में प्रोटीन की मात्रा संतुलित रहती है।

Chandraprabha Vati Side Effects

Chandraprabha Vati एक प्राकृतिक जड़ी बूटी है और इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है लेकिन किसी भी चीज के ज्यादा सेवन से साइड इफेक्ट हो सकते हैं। ओवरडोज के कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं:

  • पेट का अल्सर
  • नासूर के साथ बड़ी आंत की सूजन
  • आयरन अधिभार
  • थैलेसीमिया

Chandraprabha Vati Doses

आम तौर पर इसकी गोलियां बनाई जाती हैं और दो गोलियां सुबह और शाम सामान्य पानी या दूध के साथ लेनी चाहिए। कमजोरी आदि होने पर इसे दूध के साथ लेना चाहिए या डॉक्टर की सलाह के अनुसार सेवन करना चाहिए।

  • मात्रा – 250-500 मिलीग्राम
  • अनुपान – पानी, दूध

Chandraprabha Vati कैसे काम करती है?

Chandraprabha Vati मूत्रजननांगी प्रणाली को मजबूत करती है और मधुमेह, मूत्र पथ के संक्रमण, बवासीर, फिस्टुला और प्रदर में उपयोगी है। यह एक प्रभावी कायाकल्प के रूप में भी कार्य करता है और अच्छे स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है।

Chandraprabha Vati Price

  • चंद्रप्रभा वटी की कीमत- 190 रुपये

हम उम्मीद करते है की आपको Chandraprabha Vati की दवाई के बारे में सारी जानकारी हिंदी में मिल गयी होगी, इस दवाई का उपयोग से पहले अपने निजी डॉक्टर से सलाह-मशवरा जरुर ले।

अन्य दवाइयों के बारे में जानकारी

Beplex Forte TabletDeriphyllin Tablet
A to Z TabletCiplox 500 Tablet
Mactotal TabletCrocin Advance Tablet
Dytor Plus 10 TabletCharak Neo Tablet
Zifi 200 TabletHimalaya Lukol Tablet

Chandraprabha Vati के उपयोग, नुक्सान, फायदे” आपके लिए उपयोगी होगा, इसके साथ-साथ आपको Chandraprabha Vati के बारे में जानकारी मिल गयी होगी, अगर आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो हमे कमेंट में बता सकते है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.