Amrud Khane ke Fayde – Guava Benefits and Side Effects in Hindi

GUAVA :- फल पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं और स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। विशेष रूप से, भागदौड़ भरी जिंदगी में, वे आवश्यक पोषक तत्वों की आपूर्ति के रूप में काम कर सकते हैं। वैसे तो सभी फल फायदेमंद होते हैं, लेकिन इस लेख में हम खासतौर पर शरीर के लिए अमरूद के फायदों के बारे में बात करेंगे।

यह आसानी से मिलने वाला फल है और अमरूद के गुण शरीर को स्वस्थ रखने के साथ-साथ कई बीमारियों से भी बचा सकते हैं। Stylecrase के इस लेख में जानिए अमरूद के औषधीय गुण और विभिन्न शारीरिक समस्याओं पर अमरूद के फायदे। इसके अलावा लेख में अमरूद के औषधीय गुणों के साथ-साथ अमरूद के नुक़सान पर भी प्रकाश डाला गया है।

Benefits and harms of guava
GUAVA

अमरूद के औषधीय गुण

अमरूद में कई औषधीय गुण होते हैं। अमरूद और इस पेड़ के अन्य उत्पादों में एंटीमाइक्रोबियल, एंटीफंगल, एंटीडायबिटिक और डायरिया रोधी गुण होते हैं। अमरूद का सेवन जठरांत्र संबंधी संक्रमण, मलेरिया, श्वसन संक्रमण, मुंह/दांतों में संक्रमण, त्वचा संक्रमण, मधुमेह, हृदय और कुपोषण से जुड़ी समस्याओं में फायदेमंद साबित हो सकता है। इतना ही नहीं, कई वैज्ञानिक अध्ययनों ने इसे महिलाओं की स्वास्थ्य समस्याओं, किडनी और कैंसर  के लिए भी उपयोगी साबित किया है। अमरूद के फायदों के बारे में आगे विस्तार से बताया गया है।

अमरुद के फायदे

अमरूद के फायदे के फायदे बहुत ही है और हमे अमरुद का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए आज आपको निचे 8  फायदे बताये है

1. कैंसर से बचाव के लिए अमरूद के फायदे

अमरूद के फायदे कैंसर से बचाव में भी देखे जा सकते हैं। इससे जुड़े एक शोध में बताया गया है कि अमरूद प्रोस्टेट कैंसर (प्रोस्टेट से जुड़े) के खतरे को कम करने में मददगार हो सकता है। वास्तव में, इसमें लाइकोपीन नामक एक तत्व होता है, जो प्रोस्टेट कैंसर कोशिकाओं के खिलाफ कीमोप्रिवेंटिव प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है।  

2.दिल के लिए अमरूद के फायदे

अमरूद का सेवन दिल के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। दरअसल, इसमें कुछ मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है, जो ब्लड वेसल्स को रिलैक्स करने का काम कर सकता है, जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद कर सकता है।  

3.आंखों के लिए अमरूद के फायदे

आजकल बच्चों की आंखें छोटी उम्र से ही कमजोर होने लगती हैं। ज्यादा टीवी देखना, ज्यादा देर तक पढ़ाई करना, कम रोशनी में पढ़ाई करना, बढ़ती उम्र और कई बार पौष्टिक आहार की कमी इस समस्या का कारण बन जाते हैं। ऐसे में अमरूद को डाइट में शामिल किया जा सकता है। यह विटामिन ए, सी और फोलेट जैसे आवश्यक विटामिन से भरपूर होता है। इसके साथ ही इसमें जिंक और कॉपर जैसे तत्व भी पाए जाते हैं। ये सभी पोषक तत्व आंखों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकते हैं और साथ ही उम्र बढ़ने के कारण होने वाली आंखों की बीमारी के जोखिम को कम कर सकते हैं।  

4.गर्भावस्था में अमरूद के फायदे

अमरूद में विटामिन-सी होता है, जो शरीर में आयरन के अवशोषण को बढ़ावा दे सकता है। इसलिए, यह गर्भावस्था के दौरान आयरन की कमी से होने वाले एनीमिया (एनीमिया) से रक्षा कर सकता है। गर्भावस्था में विटामिन-सी की आपूर्ति के लिए अमरूद का सेवन किया जा सकता है। इसके अलावा अमरूद से प्राप्त विटामिन-सी को ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से बचाने में भी मददगार माना जा सकता है। गर्भावस्था में ऑक्सीडेटिव तनाव प्रीक्लेम्पसिया (गर्भावस्था में उच्च रक्तचाप) और समय से पहले जन्म के जोखिम को बढ़ा सकता है, इसलिए विटामिन सी का सेवन उपरोक्त स्थितियों के खिलाफ सुरक्षात्मक हो सकता है।  

5.ठंड के लिए अमरूद के फायदे

अमरूद के फायदों की सूची में सर्दी-जुकाम का इलाज भी शामिल है। दरअसल अमरूद में विटामिन-सी और आर्यन अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। ये पोषक तत्व फेफड़ों में रुकावट और बलगम के निर्माण को कम कर सकते हैं। यह श्वसन पथ को रोगजनकों से बचाने में भी मदद कर सकता है। वहीं, इसमें मौजूद विटामिन-सी बैक्टीरिया और वायरस से होने वाली सर्दी-खांसी से राहत दिलाने में मददगार हो सकता है।Benefits and harms of guava  

6.कब्ज के लिए अमरूद के फायदे

जैसा कि हमने ऊपर बताया कि अमरूद में फाइबर की मात्रा पाई जाती है और फाइबर मल को नरम करके कब्ज से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है। इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि अमरूद का सेवन कब्ज जैसी समस्याओं से निजात दिलाने में फायदेमंद हो सकता है।Benefits and harms of guava  

7.दिमाग के विकास के लिए अमरूद के फायदे

अमरूद के गुण अनेक हैं। जैसा कि हमने ऊपर जानकारी दी है कि इसमें लाइकोपीन नामक तत्व पाया जाता है। शोध बताते हैं कि लाइकोपीन से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन तंत्रिका क्षति को कम करने के साथ-साथ अल्जाइमर (भूलने की बीमारी) और पार्किंसंस रोग के जोखिम को कम कर सकता है। इसके अलावा, लाइकोपीन मस्तिष्क के ऊतकों की सुरक्षा में भी योगदान दे सकता है।

8.दांत दर्द में अमरूद के फायदे

अमरूद एक एंटीप्लाक एजेंट के रूप में पहचाना जाता है। यह दांतों को प्लाक से बचा सकता है, जो दांतों पर जमा होने वाली बैक्टीरिया की परत है। इस पट्टिका को पीरियोडोंटल रोग (मसूड़ों में संक्रमण) के लिए एक जोखिम कारक कहा जा सकता है। अमरूद में रोगाणुरोधी गतिविधि पाई गई है, मुख्य रूप से फ्लेवोनोइड्स, गुजेवेरिन और क्वेरसेटिन जैसे तत्वों के कारण। इसकी छाल में टैनिन की मौजूदगी के कारण यह रोगजनक बैक्टीरिया से छुटकारा दिला सकता है। अमरूद के पत्तों के अर्क में मुंह में पाए जाने वाले कई प्रकार के जीवाणुओं को नष्ट करने की क्षमता दिखाई गई है।Benefits and harms of guava

अमरुद के नुक़सान

हालांकि अमरूद के गंभीर दुष्प्रभाव नहीं होते हैं, लेकिन इसे खाते समय सावधानी बरतना जरूरी है। अमरूद के नुकसान से बचने के लिए इनका संतुलित मात्रा में सेवन करें। नीचे जानिए इससे होने वाले कुछ नुकसान-Benefits and harms of guava  

  • जैसा कि हमने ऊपर बताया कि अमरूद में फाइबर पाया जाता है और शरीर में फाइबर की अधिक मात्रा पेट में ऐंठन और गैस की समस्या पैदा कर सकती है।
  • अगर किसी को किडनी से जुड़ी कोई स्वास्थ्य समस्या है तो डॉक्टर पोटैशियम का सेवन न करने की सलाह दे सकते हैं। वहीं अमरूद में पोटैशियम अच्छी मात्रा में पाया जाता है, इसलिए अमरूद का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।
  • गर्भवती महिलाएं और स्तनपान कराने वाली माताएं अमरूद खा सकती हैं। बस इस बात का ध्यान रखें कि इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से पेट में गैस की समस्या हो सकती है।

गर्भ में लड़का है या लड़की ? जानने के 10 घरेलू तरीके हिंदी में

अमरूद का उपयोग

अब जब आप अमरूद खाने के इतने फायदे जान गए हैं तो आपके मन में भी यह सवाल जरूर उठ रहा होगा कि अमरूद का सेवन कब और कैसे करें। इन सभी सवालों के जवाब हम कुछ पॉइंट्स के जरिए बता रहे हैं। आगे हम अमरूद के उपयोग के बारे में जानेंगे।Benefits and harms of guava   अमरूद कैसे खाएं

  • सबसे पहले अच्छे अमरूद का चुनाव करें, कोशिश करें कि अमरूद पका और मुलायम हो।
  • ध्यान रहे कि अमरूद ज्यादा नरम न हो, क्योंकि इससे अमरूद सड़ सकता है या जल्दी खराब हो सकता है।
  • अमरूद को अच्छी तरह धो लें ताकि उसमें से धूल, गंदगी या गंदगी निकल जाए और अमरूद साफ हो जाए।
  • अमरूद को हमेशा काट कर खाएं। यह अमरूद के लाभों के लिए आवश्यक है क्योंकि इसमें कीड़े हो सकते हैं।
  • पके अमरूद को नमक के साथ खा सकते हैं या कच्चे अमरूद को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर या कद्दूकस करके नमक के साथ खा सकते हैं.
  • अगर आप पाचन शक्ति को सुधारना चाहते हैं तो पके अमरूद को काले नमक के साथ खाएं।
  • कब्ज की समस्या हो तो सुबह पके अमरूद का सेवन करें।
  • पके अमरूद के गूदे को चम्मच से खा सकते हैं।
  • अमरूद को काट कर चटनी के साथ खाएं।
  • अमरूद का रस पिया जा सकता है या स्मूदी और आइसक्रीम में इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • आप चाहें तो अमरूद को सब्जी के तौर पर भी खा सकते हैं.

रुका हुआ पीरियड(paused period) लाने की दवा कोनसी है ?

अमरूद का सेवन कब करें?

अमरूद का सेवन कभी भी किया जा सकता है। इसे नाश्ते, दोपहर के भोजन और रात के खाने के बीच में खाएं, क्योंकि यह स्वस्थ नाश्ते के लिए एक बढ़िया विकल्प है।

धातु रोग की अंग्रेजी दवा का नाम क्या है?

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *