ATM Full Form

ATM Full Form– दोस्तों, क्या आप ATM Full Form जानना चाहते है? आज के इस लेख में आपको ATM का फुल फॉर्म हिंदी और इंग्लिश में जानने को मिलेगा। क्या आप जानना चाहते है ATM क्या है? तो पोस्ट को पूरा पढ़ें, आपके सभी सवालों के जवाब यहां मिल जायेंगे।

ATM Full Form

ATM Full Form in Hindi

ATM Full Form in Hindiस्वचालित टेलर मशीन या कैश मशीन
ATM Full Form in EnglishAutomated teller machine

एक स्वचालित टेलर मशीन (एटीएम) या कैश मशीन (ब्रिटिश अंग्रेजी में) एक इलेक्ट्रॉनिक दूरसंचार उपकरण है जो वित्तीय संस्थानों के ग्राहकों को किसी भी समय नकद निकासी, जमा, धन हस्तांतरण, शेष राशि पूछताछ या खाता जानकारी पूछताछ जैसे वित्तीय लेनदेन करने में सक्षम बनाता है। समय और बैंक कर्मचारियों के साथ सीधे संपर्क की आवश्यकता के बिना।

ICICI Full Form in Hindi

ATM की भारत में शुरुआत

भारत में पहली बार एटीएम की सुविधा वर्ष 1987 में शुरू हुई थी और यहाँ सबसे पहला एटीएम (एचएसबीसी) हांगकांग एंड शंघाई बैंकिंग कॉरपोरेशन ने मुंबई में लगाया था। वर्तमान में भारत में बहुत सी एटीएम मशीन खुल चुकी है जिसका प्रयोग प्रत्येक व्यक्ति की दिनचर्या का महत्वपूर्ण अंग बन चुका है।

IELTS Full Form in Hindi

ATM कितने प्रकार के होते है?

  • Leased line ATM machine
    इस एटीएम मशीन में लीज्ड लाइन मशीन को डायरेक्टली होस्ट प्रोसेसर के साथ कनेक्ट किया जाता है। इस प्रकार की मशीन को फोर वायर पॉइंट टू पॉइंट डेडिकेटेड टेलीफोन लाइन की मदद से बहुत पसंद किया जाता है। परन्तु इन मशीनों की ऑपरेटिंग कॉस्ट भी बहुत अधिक होती है।
  • Dial-up ATM machine
    डायल अप एटीएम मशीन को नॉर्मल फ़ोन लाइन की सहायता से मॉडेम के द्वारा प्रोसेसर के साथ कनेक्ट किया जाता है। इस प्रकार के एटीएम मशीन को नॉर्मल कनेक्शन की आवश्यकता होती है और इसके साथ इनकी एंटीएल इंस्टालेशन कोस्ट भी लीज्ड लाइन एटीएम मशीन की तुलना में बहुत कम होती है।

CD Full Form in Hindi

ATM कैसे काम करता है?

एटीएम होस्ट प्रोसेसर से जुड़ा होता है जो बैंक और एटीएम के बीच एक कड़ी का कार्य करता है। एटीएम मशीन में जब कोई उपयोगकर्ता एटीएम में एटीएम कार्ड डालकर अपना 4 डिजिट का कोड और जितने पैसों की आवश्यकता है उतनी संख्याएँ डालता है तो यह होस्ट प्रोसेसर से जुड़ जाता है और इसकी सहायता से उपयोगकर्ता बिना बैंक जाए पैसे निकाल सकता है। एटीएम में मॉनिटर, कीबोर्ड, माउस और इनपुट और आउटपुट डिवाइस सम्मिलित होते है।

DVD Full Form in Hindi

  • हर उपयोगकर्ता जो एटीएम का उपयोग करते है उनके डेबिट या क्रेडिट कार्ड के पिछले हिस्से में एक मैग्नेटिक स्ट्रिप होती है जिसमें उसकी पहचान संख्या व अन्य आवश्यक जानकारियां कोड के रूप में होती है।
  • जब उपयोगकर्ता कार्ड को एटीएम के कार्ड रीडर में डालता है तब एटीएम मैग्नेटिक स्ट्रिप में छिपी इन जानकारियों को पढ़ लेता है।
  • यह जानकारी जब होस्ट प्रोसेसर के पास पहुँचती है तो वह यूजर के बैंक से ट्रांजक्शन का रास्ता साफ़ करता है।
  • उसके पश्चात जब यूजर कैश निकालने का विकल्प चुनता है तो होस्ट प्रोसेसर और उसके बैंक अकाउंट के मध्य एक Electronic Fund Transfer प्रक्रिया होती है।
  • इस प्रक्रिया के पूरा होते ही होस्ट प्रोसेसर एटीएम को एक अप्रूवल कोड भेजता है जो एक तरह से मशीन को पैसा देने आदेश के समान है।

CBSE Full Form in Hindi

निष्कर्ष- आज के इस लेख में हमने आपको ATM Full Form in Hindi और ATM Full Form in English में जानकारी दी है। अगर आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा तो इसको अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *