Ashwagandha Tablet Uses in Hindi

Ashwagandha Tablet का उपयोग क्या है, यहाँ आप Ashwagandha Tablet के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे। इस लेख में आप Ashwagandha Tablet के बारे में हिंदी में जानकारी मिलेंगी।

Ashwagandha Tablet Uses in Hindi
Ashwagandha Tablet Uses in Hindi

Ashwagandha की दवाई क्या है? इसके Uses, Benefits, Side Effects व Dosage के बारे में जानकारी पढ़ने को मिलेगा।

दवा के घटकAshwagandha
निर्मातासोलेनेसी
दवा का प्रकारविथानिआ सोम्निफ़ेरा

जानिए Ashwagandha Tablet in Hindi की जानकारी, लाभ, फायदे, उपयोग, प्रयोग, कीमत, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, डोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां

What is Ashwagandha Tablets

अलग-अलग देशों में अश्‍वगंधा कई प्रकार की होती है, लेकिन असली अश्वगंधा की पहचान करने के लिए इसके पौधों को मसलने पर घोड़े के पेशाब जैसी गंध आती है। अश्वगंधा की ताजी जड़ में यह गंध अधिक तेज होती है। वन में पाए जाने वाले पौधों की तुलना में खेती के माध्‍यम से उगाए जाने वाले अश्‍वगंधा की गुणवत्‍ता अच्‍छी होती है। तेल निकालने के लिए वनों में पाया जाने वाला अश्‍वगंधा का पौधा ही अच्‍छा माना जाता है।

इसके दो प्रकार हैं-

छोटी असगंध (अश्वगंधा)

इसकी झाड़ी छोटी होने से यह छोटी असगंध कहलाती है, लेकिन इसकी जड़ बड़ी होती है। राजस्‍थान के नागौर में यह बहुत अधिक पाई जाती है और वहां के जलवायु के प्रभाव से यह विशेष प्रभावशाली होती है। इसीलिए इसको नागौरी असगंध भी कहते हैं।

बड़ी या देशी असगंध (अश्वगंधा)

इसकी झाड़ी बड़ी होती है, लेकिन जड़ें छोटी और पतली होती हैं। यह बाग-बगीचों, खेतों और पहाड़ी स्थानों में सामान्य रूप में पाई जाती है। असगंध में कब्‍ज गुणों की प्रधानता होने से और उसकी गंध कुछ घोड़े के पेशाब जैसी होने से संस्कृत में इसकी बाजी या घोड़े से संबंधित नाम रखे गए हैं।  

बाहरी आकृति

बाजार में अश्‍वगंधा की दो प्रजातियां मिलती हैंः-

  • पहली मूल अश्‍वगंधा Withania somnifera (Linn.) Dunal, जो 0.3-2 मीटर ऊंचा, सीधा, धूसर रंग का घनरोमश तना वाला होता है।
  • दूसरी काकनज Withania coagulans (Stocks) Duanl, जो लगभग 1.2 मीटर तक ऊंचा, झाड़ीदार तना वाला होता है।

Vomiting Tablet Uses in Hindi

Ashwagandha Tablet Uses & Benefits

अश्वगंधा टेबलेट्स के फायदे :-

थाइरॉइड और कोलेस्ट्रॉल पर नियंत्रण

अश्वगंधा को दोनों प्रकार के थाइरॉइड से निपटने में मदद करता है। दिल की मांसपेशियों को मजबूती देकर कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर देता है।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन और प्रजनन क्षमता का इलाज

अश्वगंधा पुरुष हार्मोन के स्तर पर शक्तिशाली प्रभाव डालता है। यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन का इलाज तो करता ही है साथ ही प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है।

चिंता और तनाव को कम करना

यह चिंता और तनाव को कम करके मन शांत करता है। यह डिप्रेशन से लड़ने और जीवन शक्ति को सुधारने में सहायता करता है। इसके सीडेटिव और आराम देने वाले गुण अच्छी नींद को बढ़ावा देते हैं।

डायबिटीज से लड़ने में मदद

यह इन्सुलिन का स्त्राव करता है जिस वजह से बढ़ी हुई शुगर कम हो जाती है। मांसपेशियों के सेल्स में सुधरी हुई इन्सुलिन की संवेदनशीलता के कारण भी डायबिटीज नियंत्रण में रहती है।

प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा

अश्वगंधा लेने से खून में लाल, सफेद सेल्स और प्लेटलेट्स की बढ़ोतरी निश्चित है। यह उस नशे के प्रभाव को मिटाता है जोकि प्रतिरक्षा प्रणाली को दबा देते हैं, मजबूती प्रदान करता है और धैर्य में बढ़ोतरी करता है।

उद्वेग से बचाना

इसमे आक्षेप करने के गुण हैं जिस वजह से यह ऐंठन और उद्वेग के लिए उपयोग किया जाता है।

मांसपेशियों को मजबूती

जो लोग किसी भी प्रकार का व्यायाम करते हैं या फिर कोई प्रतिरोध प्रशिक्षण लेते हैं उनके लिए मांसपेशियों को मजबूत बनाने का एक साधन है।

एन्टी इंफ्लेमेटरी

यह संधिशोध की समस्याओं से लड़ने में भी बहुत प्रभावी है। यह जोड़ों की दर्द और सूजन जोकि अल्कालोइड्स, सैपोनिन्स और स्टेरॉइडल लैक्टोन्स की वजह से होती है को भी कम करने में मदद करता है।

इन्फेक्शन से लड़ने में मदद

अश्वगंधा मनुष्यों में फंगल और पैसिटिक इन्फेक्शन्स, वायरल, बैक्टीरिया आदि पर नियंत्रण करने में बहुत प्रभावी है। यह यूरिनोजेनिटल, गैस्ट्रो इंटेस्टाइनल और रेस्पिरेटरी इन्फेक्शन्स का इलाज करने में भी मददगार है।

Albendazole Tablet Uses in Hindi

Ashwagandha Tablet Side Effects

अश्वगंधा से नुकसान (Ashwagandha Side Effects) :-

  • गर्म प्रकृति वाले व्‍यक्ति के लिए अश्‍वगंधा का प्रयोग नुकसानदेह होता है।
  • अश्‍वगंधा के नुकसानदेह प्रभाव को गोंद, कतीरा एवं घी के सेवन से ठीक किया जाता है।

Nise Tablet Uses in Hindi

Ashwagandha के खुराक के बारे में जानिए

अश्वगंधा का सही लाभ पाने के लिए अश्वगंधा का सेवन कैसे करें ये पता होना ज़रूरी होता है। अश्वगंधा के सही फायदा पाने और नुकसान से बचने के लिए चिकित्सक के परामर्श के अनुसार सेवन करना चाहिए-

  • जड़ का चूर्ण – 2-4 ग्राम
  • काढ़ा – 10-30 मिलीग्राम

इस्तेमाल के लिए अश्‍वगंधा के उपयोगी हिस्से

Useful Parts of Ashwagandha :-

  • पत्‍ते
  • जड़
  • फल
  • बीज

अश्‍वगंधा कहां पाया या उगाया जाता है

Where is Ashwagandha Found or Grown? :- पूरे भारत में और खासकर सूखे प्रदेशों में अश्‍वगंधा का पौधा पाए जाते हैं। ये अपने आप उगते हैं। इसकी खेती भी की जाती है। ये वनों में मिल जाते हैं। अश्‍वगंघा के पौधे 2000-2500 मीटर की ऊंचाई तक पाए जाते हैं।

Ivermectin 12 Mg Tablet Uses in Hindi

हम उम्मीद करते है की आपको Ashwagandha की दवाई के बारे में सारी जानकारी हिंदी में मिल गयी होगी, इस दवाई का उपयोग से पहले अपने निजी डॉक्टर से सलाह-मशवरा जरुर ले।

Follihair Tablet Uses in Hindi

Ashwagandha के उपयोग, नुक्सान, फायदे” आपके लिए उपयोगी होगा, इसके साथ-साथ आपको Ashwagandha Tablet के बारे में जानकारी मिल गयी होगी, अगर आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो हमे कमेंट में बता सकते है।

Zac D Tablet Uses in Hindi

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.